शरीर की सूजन कम करने के घरेलु उपाय

0

सूजन कम करने के घरेलु उपाय शरीर में सूजन के कई कारण हो सकते हैं जैसे, खून की कमी, पेट या लीवर की खराबी, शरीर में पोटैशियम की कमी या फिर शरीर में पानी की अधिक्‍ता, आदि हो सकती है।

कभी कभी, सूजन केवल चेहरे या फिर कुछ अंगों पर ही दिखती है। लेकिन कभी सूजन इतनी बढ़ जाती है कि पूरा शरीर की सूजा हुआ दिखता है। डॉक्‍टरों के लिये भी यह जान पाना मुश्‍किल हो जाता है कि शरीर में सूजन क्‍यूं है। वह कहते हैं कि कभी कभार सूजन शरीर में CRP नामक प्रोटीन के बढ़ने से भी हो सकती है।

सूजन से बचने के लिये आपको शारीरिक तौर पर एक्‍टिव रहने की जरुरत है। इसके साथ ही अपने भोजन में कुछ चीजों को नियमित रूप से शामिल करने से भी सूजन में कमी देखी जा सकती है।

आइये आपको बताते है

शरीर की सूजन कम करने के घरेलु उपाय – sujan kam karne ke gharelu upay in hindi

अदरक और हल्‍दी

ये दोनों शरीर के इम्‍मयून सिस्‍टम को काबू में करते हैं और सूजन को कम करते हैं।

साबुत अनाज

साबुत अनाज में बहुत सारा फाइबर हेाता है जिससे खून में सी – रेएक्‍टिप प्रोटीन की मात्रा कम हो जाती है और शरीर की सूजन कम होने लगती है। साबुत अनाज के तौर पर आप, चावल, बाजरा, वीट ब्रेड आदि खा सकते हैं।

फायदेमंद है गुड

गुड स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद होने के साथ ही स्वादिष्ट भी होता है। यह सूजन को दूर करने में भी लाभदायक होता है। पुराने गुड़ को सोंठ के साथ मिलाकर खाने से शरीर की सूजन जाती रहती है। या फिर दो चम्मच सूखी हल्दी तवे पर भूनकर उसमें थोड़ा-सा गुड़ मिलाकर सेवन करें।

अनानास का रस

अनानास का रस पीने से सूजन कम हो जाती है। इस फल में मिनरल्स, विटामिन बी, सी, के, फॉलेट, कार्बोहाइड्रेट, वसा, कैल्शियम, फॉस्फोरस और एन्जाइम्स पाए जाते हैं। साथ ही इसमें पाया जाने वाला ब्रोमिलेन शरीर की सूजन और गठिया में लाभदायक होता है।

तरबूज के बीज

तरबूज के बीज पैर में टखनों की सूजन में बहुत उपयोगी होते हैं। इसके लिए तरबूज के बीजों को छाया में सुखा लें। फिर इन बीजों को पीसकर उसमें से दो चम्‍मच बीजों ले लें। इन बीजों को एक कप उबलते पानी में डालकर भीगने दें। कुछ घंटों के बाद इसको छानकर पी जायें। इस पानी को दिन में चार बार कुछ दिन तक पीने से सूजन ठीक हो जाएगी।

चुकंदर

इस सब्‍जी में बहुत सारा एंटीऑक्‍सीडेंट पाया जाता है। यह शरीर की सूजन को कम करता है तथा कैंसर और दिल के रोग से बचाता है। इसमें विटामिन सी और फाइबर होता है।

लो फैट

डेरी आहार जिनमें कैल्‍शियम और विटामिन डी होता है, वो हर किसी के लिये अच्‍छे माने जाते हैं।

छोटी सी काली मिर्च के गुण

काली मिर्च में एंटीमाइक्रोबिएल और सूजन व दर्द को कम करने के गुण पाए जाते हैं। सूजन कम करने के लिए इसका इस्‍तेमाल कई चीजों के साथ मिलाकर किया जा सकता हैं। जैसे पांच काली मिर्च पीस कर चौथाई चम्मच मक्खन के साथ,  तरबूज के रस में कालीमिर्च का चूर्ण डालकर या फिर सोंठ, कालीमिर्च तथा सौंफ तीनों का चूर्ण दो चम्मच की मात्रा में गुड़ के साथ।

हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां

पत्‍तागोभी, ब्रॉक्‍ली, पालक आदि सब्‍जियों को खाने से भारी मात्रा में विटामिन ई प्राप्‍त होता है, जो कि शरीर की सूजन को कम करता है।

काशीफल से दूर करे सूजन

काशीफल को प्राचीन काल से ही गुणों की खान माना जाता रहा है। काशीफल के बीज भी बहुत गुणकारी होते हैं। काशीफल और इसके बीजों में विटामिन सी और ई, आयरन, कैलशियम मैग्नीशियम, फॉसफोरस, पोटैशियम, जिंक, प्रोटीन और फाइबर आदि के अच्छे स्रोत हैं। सूजन को दूर करने के लिए काशीफल के आठ-दस बीजों की चटनी बनाकर शहद के साथ चाटें

लहसुन और प्‍याज

यह इम्‍मयूनिटी को बढाते हैं। साथ ही इनमें सूजन को कम करने वाले कैमिकल्‍स पाए जाते हैं जो कि शरीर को सूजन से बचाते हैं।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

मेवे

मेवे में खासकर बादाम और अखरोठ में बहुत ज्‍यादा फाइबर, कैल्‍शियम और विटामिन ई पाया जाता है, जो कि हेल्‍दी माने जाते हैं। हर मेवे में आपको एंटीऑक्‍सीडेंट मिलेगा जो कि शरीर को सूजन से बचाएगा।

धनिया की पत्तियां

आयरन से भरपूर होने के कारण धनिया की पत्तियां एनिमिया को दूर करने में तो मददगार होती ही है। साथ ही अपने एंटी टय़ुमेटिक और एंटीअर्थराइटिस के गुणों के कारण सूजन कम करने में बहुत मददगार होता है। इससे जोड़ों के दर्द में भी राहत मिलती है। इसके सेवन के लिए धनिया की पत्तियों को पानी में उबाल लें फिर इसको छानकर इसका पानी दिन में दो बार लें या‍ फिर आप सब्जियों में भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।

टमाटर

टमाटर में लाइकोपेन होता है जो कि फेफड़ों और पूरे शरीर की सूजन को रोकता है। कच्‍चे टमाटर की जगह पकाया गया टमाटर या फिर सॉस खाने से आपको ज्‍यादा मात्रा में लाइकोपेन मिल सकता है।

करेले का रस

स्‍वाद में कड़वा लेकिन सेहत के लिए फायदेमंद करेला सूजन को दूर करने में भी बहुत मददगार होता है। इसके लिए करेले का रस चार चम्मच और मकोय का अर्क (एक तरह का सफेद फूल) पांच चम्मच लें। इन दोनों को मिलाकर रोज सुबह खाली पेट सेवन करें। अगर आपको मकोय नहीं मिल रहा है तो करेले के थोड़े-से रस में एक चम्मच सोंठ का चूर्ण मिलाकर पिएं।

सोया

सोया में इस्‍ट्रोजेन और ईसोफ्लेवोन्‍स नामक पदार्थ पाए जाते हैं जो कि महिलाओं में CRP और सूजन के लेवल को कम करते हैं। इसे खाने से सूजन की वजह से हड्डियों और दिल के खतरे को भी टाला जाता है। आपको सोया मिल्‍क और टोफू आदि रेगुलर डाइट में लेनी चाहिये।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

Leave a Reply