हृदयाघात (हार्ट अटैक) को कैसे रोकें सिर्फ 1 मिनट में

0

हृदयाघात / Heart attack जिसे हम सामान्य भाषा में दिल का दौरा या MI (Myocardial Infarction) भी कहते हैं । जब ह्रदय / Heart की मांसपेशियों को रक्त के साथ Oxygen पहुँचानेवाली कोई रक्त वाहिका किसी कारण से अवरुद्ध (block) हो जाती है और ह्रदय के किसी हिस्से में रक्त प्रवाह बंद हो जाता है तब दिल का दौरा पड़ता हैं। कई बार तो यह दिल का दौरा / Heart attack छोटा होता हैं पर कई बार किसी व्यक्ति की जान भी जा सकती हैं।

how-to-stop-a-heart-attack-in-hindi
पहले यह समस्या केवल 40 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में पायी जाती थी परन्तु अब लोगों की बिगड़ी हुई जीवनशैली के कारण 20 से 25 वर्ष के युवा भी इस समस्या से पीड़ित मिलते हैं। यदि Heart attack में पीड़ित को समय पर उपचार नहीं मिलता हैं तो हृदय के मांसपेशी के उस भाग की मृत्यु हो जाती हैं। पीड़ित व्यक्ति को जितने जल्दी मदद मिलती है उसके ह्रदय को उतनी कम क्षति पहुचती हैं। दिल का दौरा पड़ने पर जल्द मदद मिलने के लिए आपको दिल के दौरे के सभी लक्षणों की जानकारी होना बेहद आवश्यक हैं।

अमेरिकन हार्ट असोसिएशन के अनुसार कुछ व्यक्तिओं में दिल के दौरे के लक्षण 1 महीने पहले से ही दिखने लग जाते हैं। ऐसे में अगर पहले ही लक्षणों को पहचान लिए जाये तो दिल के दौरे को रोकना काफी हद तक सफल हो सकता हैं।

कई बार दिल का दौरा इतना हल्का नहीं होता के मरीज को डोक्टर के पास लेजाने का मौका दे | इसीलिए आपको यह जानना बेहद जरूरी है के इस तरेह की स्थिति में आपको क्या करना चाहिए तांकि किसी की जान बचाई जा सके | आज हम आपको बताएगे कैसे आप सिर्फ 1 मिनट दिल के दौरे को रोक सकते हो |

सामग्री

  • लाल मिर्च पाउडर – cayenne pepper powder
  • 1-3 ताज़ी लाल मिर्च – cayenne pepper
  • 50% alcohol (you can use vodka)
  • 1 लिटर कांच को बोतल – glass bottle
  • दस्ताने – gloves

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

बनाने की विधि

  • इस मिश्रण को तयार करने से पहले अपने हाथों को दस्तानो से ढक लें | फिर बोतल में चोथाई हिस्सा लाल मिर्च पाउडर का डाल दें और इसमे उतनी ही alcohol डालें जिससे पाउडर समा जाए |
  • दूसरी तरफ ताज़ी साबत लाल मिर्च को ब्लेंडर में डाल कर ब्लेंड कर लीजिये और इसमें सिर्फ उस मात्रा में alcohol डालें जिससे के आपको एक सौस जैसा मिश्रण प्राप्त हो जाए |
  • साबत लाल मिर्च से बने पेस्ट को बोतल में डाल दीजिये | अब आपकी बोतल तकरीबन 750 ml तक भर जाए गी |
  • बोतल को alcohol से उपर तक भर दें और उपर से बंद कर दें |
  • दिन में बोतल को 4-6 बार हिलाए तांकि सारी औषधिया अच्छे से मिक्स हो जाएँ |
  • इस मिश्रण को 2 हफ़्तों के लिए किसी डार्क जगहे में रख दें | फिर इस मिश्रण को किसी डार्क बोतल में पुन लें | पुणे हुए मिश्रण को किसी सुखी और डार्क जगहे में स्टोर कर के रखें |

हार्ट अटैक से पीडत को इस मिश्रण की 5-10 बुँदे पांच-पांच मिनटों बाद देते रहें जब तक के मरीज ही हालत में सुधार न आ जाये |

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

Leave a Reply