इन 6 चीजों को दोबारा कभी गर्म न करें, नहीं तो हो जायेगा कैंसर

0

अक्सर हम सभी के घरों में ऐसा होता है कि हम एक वक्त का खाने गर्म करके दूसरे वक्त भी खा लेते हैं। लेकिन आपको ये जानकर ताज्जुब हो सकता है कि हर खाना गर्म करके खाने के लिए नहीं बना होता। खाने-पीने की कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं, जिन्हें गर्म करने उनमें कुछ ऐसे चेंजेज़ हो जाते हैं जिससे वो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक बन जाती हैं। कई बार इससे कैंसर होने का खतरा भी बढ़ जाता है। कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हें गर्म करने पर उनमें मौजूद प्रोटीन खत्म हो जाता है और उसमें मौजूद कुछ तत्व कैंसर के कारकों में बदल जाते हैं।

आइए जानें, ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में जिन्हें  दोबारा गर्म करके खाने के बारे में भूलकर भी नहीं सोचना चाहिए-

1. पालक

पालक को दोबारा गर्म करके खाना कैंसर का कारण भी हो सकता है। इससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। इसमें मौजूद नाइट्रेट दोबारा गर्म करने के बाद कुछ ऐसे तत्वों में बदल जाते हैं जिससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

2. आलू

माना कि आलू स्वास्थ्यवर्धक होते हैं, लेकिन अगर इन्हें बनाकर बहुत अधिक देर तक रख दिया जाए तो इनमें मौजूद पोषक तत्व समाप्त हो जाते हैं। इसे दोबारा गर्म करके खाने से पाचन क्रिया पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

3. चुकंदर

चुकंदर को खाने से पहले कभी भी दोबारा गर्म न करें। ऐसा करने से इसमें मौजूद नाइट्रेट समाप्त हो जाता है। अगर चुकंदर ज्यादा बन भी गया है तो इसे फ्रिज में रख दें। फिर अगली बार खाने से कुछ घंटे पहले बाहर निकालकर रूम टैम्प्रेचर पर आने दें और फिर बिना गर्म करे खाएं।

4. मशरूम

हमेशा मशरूम को ताजा ही खाएं। क्योंकि ये प्रोटीन का खजाना होते हैं, लेकिन दोबारा गर्म करके खाने से इसके प्रोटीन का कॉम्पोजिशन बदल जाता है और ये आपके स्वास्थ्य को फायदा पहुंचाने की बजाय नुकसान कर सकता है।

5. चावल

अक्सर हम बासी चावल को फ्राई कर या दोबारा पानी डाल गर्म कर खाते हैं। लेकिन फूड स्टैंडर्ड एजेंसी के अनुसार कच्चे चावल में बैक्टेरिया के जीवाणु होते हैं।  चावल पकाने के बाद भी ये जीवाणु रह जाते हैं। इसलिए जब हम पके चावल को रूम ट्रेंप्रेचर पर छोड़ते हैं तो जीवाणु बढ़ जाते हैं। इसलिए इसे बासी खाने से फूड प्वॉइजनिंग हो सकती है। दोबारा गर्म कर खाने पर मामला और भी बिगड़ सकता है।

6.अंडे

अंडे की भुर्जी को दोबारा गर्म करने पर यह टॉक्सिक छोड़ता है जिसे पचाने में आपको दिक्कत हो सकती है.

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply