एलोवेरा के प्रयोग से पहले इसके 4 नुकसान के बारे में जानें

0

ऐलोवेरा का अपयोग अनेक स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने व सौंदर्य उत्पादों में होता है। आमतौर पर इसे मुंहासों, शुष्क त्वचा, स्ट्रेच मार्क्स, जलने पर या फिर चेहरे के दाग धब्बों आदि को दूर करने के लिए किया जाता है। लेकिन एलोवेरा के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। अगर आप शुद्ध ऐलोवेरा का जरूरत से ज्यादा मात्रा का सेवन करते हैं तो आपको इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।aloe-vera-ke-nuksan

1. गर्भपात हो सकता है

यदि आप गर्भवती हैं या फिर अपने शिशु को स्तनपान करा रही हैं तो ऐलोवेरा के सवन से बिल्कुल दूर रहें। गर्भवती महिलाओं द्वारा इसका सेवन करने पर गर्भपात या बच्चे में कोई जन्म दोष हो सकता है। 12 साल से छोटे बच्चों के लिए भी एलोवेरा का सेवन सुरक्षित नहीं माना जाता है।

2. दवाओं का असर को रोकता है

ऐलोवेरा में मौजूद लैक्सेटिव शरीर में कुछ दवाओं को अवषोषित होने से भी रोक सकता है। तो यदि आप दवाओं पर हैं तो ऐलोवेरा को किसी भी रूप में लेने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें।

3. पोटेशियम का स्तर कम होना

अगर ऐलोवेरा का जरूरत से अधिक मात्रा में या गलत तरीके से सेवन किया जाए तो इससे शरीर का पोटैशियम स्तर घट सकता है। ऐसा होने से दिल की धड़कन अनियमित हो सकती हैं और कमज़ोरी महसूस हो सकती है।

4. दस्त लग सकते हैं

ऐलोवेरा में लैक्सेटिव (laxative) एंथ्राक्विनोन (anthraquinone) आदि तत्व मौजूद होते हैं, इसका ज्यादा मात्रा में सेवन करने से दस्त लग सकते हैं। तो ध्यान रहे कि यदि आपको इरेटेबल बोवेल सिंड्रोम (irritable bowel syndrome ) या गैस की समस्या हो तो ऐलोवेरा का सेवन न करें।

SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply