आलू के छिलके में छुपा है सेहत का राज, आलू से ज्यादा फायदेमंद होता है इसका छिलका

0

क्या आप भी दुसरो की तरह ही आलू के छिलके को फेंक देते है। अगर हाँ तो आप एक से ज्यादा मात्रा वाले स्वास्थ्य वर्धक तत्व को फेंक दे रहे है आलू को हमेशा छिलके समेत पकाना चाहिए क्योकि इसका सबसे अधिक पोष्टिक भाग ठीक इसके छिलके के निचे होता है। जो प्रोटीन और खनिज से भरपूर होता है आलू के छिलके में बीमारियों से लडने के क्षमता होती है। ये स्वास्थ्य के साथ साथ आपके सौन्दर्य को भी बढ़ाने का काम करता है अगली बार आलू के छिलको को फेकने से पहले इसके फायदों को न भूले।

potato peel benefits

आलू के छिलके में सके पल्प से 7 गुना ज्यादा कैलिशयम और 17 गुना ज्यादा आयरन होता है। छिलका निकल देने से आलू में न्यूट्रिशन्स और फाइबर की मात्रा 90 % तक कम हो जाती है।

वजन कम करता है

सभी जानते है की आलू में कार्बोहाइट्रेट होता है जो वजन कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है 100 ग्राम आलू में 1 .6 % प्रोटीन ,22 .6 %कार्बोहाइट्रेट ,0 .1 %वसा ,0 .4 % खनिज और 97 % केलोरी होती है। हालॉकि आलू के छिलको में नाम मात्र की फेट कोलोस्ट्रोल और सोडियम होता है इसलिए आलू का छिलका आपका वजन कम करने में सहायक है।

हड्डिया होती है मजबूत

आलू के छिलको में पाई जाने वाली पोटाशियम की अच्छी मात्रा न केवल बी पी को सही रखती है बल्कि हड्डियों को भी मजबूत करती है ।

कैंसर से बचाता है

आलू के छिलको में फाइटोन्यूट्रीशन्स भरपूर मात्रा में होता है जो एंटीऑक्सीडेंट का काम करता है। इसके आलावा इसमे उच्च मात्रा में क्लोरोजेनिक एसिड होता है जो कैंसर के लिए जिम्मेदार तत्वों से हमारा बचाव करता है यह कोशिकाओं की मरम्मत भी करता है ।

मुहासों को दूर करे

आँखों के निचे बैग बने हो या चेहरे पर ढंग धब्बे बने हो या मुहासे हो तो कुछ न करे सिर्फ आलू के छिलको के अंदुरनी हिस्से को चेहरे पर लगाए और हल्का हल्का दबाते हुए रगड़े 15 दिन में फर्क बताये और तो और आलू के छिलको को ग्रैंड करे और रुई भिगोकर चेहरे पर लगाए 15 दिनों में आपका चेहरा धमकने लगेगा।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

आलू के छिलको में विटामिन सी ,बी काम्प्लेक्स,आयरन ,कैलिशयम ,मेगनीज और फास्फोरस जैसे तत्व पाए जाते है। विटामिन जहाँ हमारी आँखों की रौशनी के लिए वरदान है। वही यह तत्व त्वचा को भी चमकाने का भी काम करता है इसके आलावा विटामिन ऐ प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है जो हमे बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।

दिल का रखता है ख्याल

फाइबर से भरपूर सब्जिया दिल के लिए अच्छी होती है। इस बरसात में आलू के छिलको का इस्तेमाल कर कोरेनरी हार्ट बीमारियों से बचा जा सकता है। अमेरिकी डिपार्मेंट ऑफ़ एग्रीकल्चर के मुताबिक आलू के छिलके में बड़े स्तर पर पोटैशियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में मदद करता है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply