बिना डाई के सफ़ेद बालो को प्राकृतिक रूप से काला करने का उपाय

0

अगर आपके बाल भी उम्र से पहले सफेद होने लगे हैं और आप इस बात को लेकर हमेशा तनाव में रहते हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं हैं क्‍योंकि हम आपके लिए लाये हैं एक ऐसा उपाय जिसके इस्‍तेमाल से आप सफेद बालों की समस्‍या से बच सकते हैं। लेकिन इस घरेलू उपाय के लिए आपको थोड़े धैर्य की जरूरत है। साथ ही अपनी डायट में हरी सब्जियां, फल और प्रोटीन से भरपूर आहार को शामिल करना न भूलें।

सफेद बालों की समस्‍या के लिए आलू का छिलका

जी हां, यह पुराने जमाने की औषधि आलू के छिलके को उतारकर बनाई जाती है। यह आजमाया हुआ नुस्‍खा है जो कि बालों को सफेद होने से बचाने के साथ ही बालों के रोम को भी स्वस्थ रखता है। आलू के छिलके में मौजूद स्टार्च बालों की रक्षा करता है।

आलू के छिलके के हेयर मास्क में विटामिन ए, बी और सी होता है, जिससे यह स्‍कैल्‍प पर जमे तेल को हटाकर इसे साफ करते हैं, परतदार डैंड्रफ को हटाते हैं, रोम छिद्रों को खोलते हैं और नए बालों के रोमों को बढ़ाते हैं। इतना ही नहीं आलू में आयरन, जिंक, पोटेशियम और कैल्शियम जैसे कई मिनरल्स पाये जाते हैं जिससे बालों का गिरना कम होता है और बाल बढ़ते हैं। आलू में मौजूद स्टार्च एक प्राकृतिक कलर के रूप में काम करता है, यह ना केवल बालों को सफेद होने से रोकता है बल्कि यह चमक भी प्रदान करता है।

पैक बनाने के लिए सामग्री

  • आलू का छिलका- 3 या 4
  • लैवेंडर का तेल (इच्छानुसार)- कुछ बूंदें

बनाने का तरीका

  • 3-4 आलू लेकर, उनके छिलके उतार लें।
  • फिर इनके छिलके लेकर, एक कप ठंडे पानी में डालें।
  • इसे पैन में डालकर, अच्‍छे से उबालें।
  • जब यह पूरी तरह उबल जाए, तो इसे 5 से 10 मिनट तक धीमी आंच पर पकाएं।
  • फिर इस मिश्रण को थोड़ी देर के लिए ठंडा होने के लिए रख दें। फिर इसे जार में भरें।
  • इसकी तीखी गंध से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ बूंद लैवेंडर ऑयल डाल सकते हैं।

इस्तेमाल करने का तरीका

इस मिश्रण को यदि साफ और गीले बालों में लगाया जाये तो आलू के छिलके का पानी ज्यादा बेहतर असर करता है। आलू के छिलके के इस मिश्रण को आप स्‍कैल्‍प पर धीरे-धीरे लगाकर, थोड़ी देर के लिए छोड़ दें। अपने बालों की 5 मिनट मसाज करें और फिर 30 मिनट तक इसे ऐसे ही छोड़ दें। अगर मिश्रण कुछ देर बालों में रहता है तो शानदार तरीके से काम करता है। इसके बाद इसे ठंडे पानी से धो लें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply