इस फल को खाने से मिलते है लाखो फायदे, जरूर पढ़े

0

कीवी फल खाने के फायदे | Kiwi khane ke fayde: कीवी भूरे रंग का फल होता हैं जो चीकू की तरह दिखाई देता हैं। कीवी ऊपर से भूरे रंग का रेशेदार फल होता हैं, लेकिन अन्दर से काटने पर यह हरे रंग का होता हैं। कीवी मुख्य तौर पर चाइनीज़ फल हैं यानि की इसकी पैदावार पहले चीन में शुरू हुयी थी, लेकिन समय के साथ यह New Zealand जा पंहुचा और आज यह फल New Zealand की पहचान बन गया हैं।

यह फल दिखने में बहुत ही सुन्दर नज़र आता हैं और गुणों के मामले में भी यह एक जादुई फल हैं। कीवी फल पहाड़ो पर ही उगाया जा सकता हैं, इसलिए इसकी पैदावार ठण्डे देशों में ही ज्यादा होती हैं। यह खाने में बहुत ही टेस्टी और रसीला लगता हैं।

कीवी फल में शरीर को सेहतमंद बनाने वाले पोषक तत्व जैसे फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन सी, विटामिन ई और कई तरह की polyphenols आदि पाए जाते हैं। इसके अलावा कीवी फल में ऐक्टिनीडेन नाम का एंजाइम भी होता हैं जो हमें प्रोटीन देता हैं। कीवी फल को खाने से सेहत को क्या क्या लाभ होते हैं? कीवी खाने के फायदे क्या हैं? आज हम इसके बारे में आपको बताएँगे।

कीवी खाने के फायदे :-

डेंगू और चिकुनगुनिया में फायदेमंद

डेंगू और चिकुनगुनिया की बीमारी में शरीर के ब्लड में प्लेट्स की कमी होने लगती हैं। कीवी फल को खाने से ब्लड में गिरते हुए ब्लड प्लेट्स की संख्या को बढ़ाया जा सकता हैं। इसलिए डॉक्टर ब्लड प्लेट्स के गिरते हुए काउंट को बढ़ाने के लिए हर दिन 2 कीवी फल खाने की सलाह देते हैं। डेंगू और चिकनगुनिया होने पर कीवी फल को खाने से आपको बीमारी से लड़ने में मदद मिलती हैं। इसलिए डेंगू के बुखार में कीवी बहुत ही फायदेमंद साबित होता हैं।

गर्भवती महिलाओं के लिए लाभकारी

कीवी फल में फोलिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं, जो की गर्भवती स्त्री के लिए विशेष तौर पर लाभदायक हैं। गर्भावस्था के दौरान गर्भवती स्त्री को 400 से 600 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड की आवश्यकता होती हैं जो की कीवी फल को खा कर आसानी से पूरा किया जा सकता हैं। फोलिक एसिड के सेवन से गर्भ में पल रहे बच्चे के दिमाग का विकास होता हैं।

कब्ज़ से दिलाये छुटकारा

कीवी में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं, जिस करना कीवी को खाने से आपको कब्ज़ से छुटकारा मिलता हैं। अगर आपको इरिटेबल बोलेस सिंड्रोम हैं तो आपको यह फल जरूर खाना चाहिए। इस फल को खाने से पेट दर्द, कब्ज़, दस्त और पेट से सम्बंधित अन्य बीमारियों को दूर किया जा सकता हैं।

डायबिटीज में फायदेमंद

कीवी फल में Glycemic Index बहुत कम मात्रा में पाया जाता हैं। जिस कारण खून में ग्लूकोज़ की मात्रा नहीं बढ़ती हैं। इसलिए कीवी का सेवन करने से आपको दिल के रोग और मधुमेह में फायदा होता हैं।

गुड कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ाये

कीवी खाने से ना सिर्फ ख़राब कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम किया जा सकता हैं, बल्कि इसके सेवन से गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाया भी जा सकता हैं। जिन लोगो को दिल से सम्बंधित बीमारियाँ हैं, उन्हें नियमित रूप से कीवी को खाना चाहिए।

स्किन बनाये जवां

कीवी में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके सेवन से आपकी बॉडी की इम्युनिटी बढ़ती हैं और स्किन सेल्स को यह डैमेज होने से भी बचाता हैं। जिस वजह से आपकी स्किन लम्बे समय तक हमेशा जवां दिखाई देती हैं। यानि की कीवी फल को खाने से चेहरे और स्किन पर बढ़ती उम्र के असर को कम किया जा सकता हैं।

टेंशन से दिलाये राहत

कीवी फल में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए, बी6, बी12 और कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम और आयरन जैसे तत्व पाए जाते हैं जो बॉडी को हर तरह की प्रॉब्लम से बचाने में मदद करते हैं। इसलिए कीवी फल को खा कर आप दांतों की समस्या, ब्लड सर्कुलेशन और टेंशन जैसी गंभीर समस्याओं से राहत पा सकते हैं।

पाचन में सहायता करे

कीवी में ऐक्टिनीडेन नाम का एंजाइम पाया जाता हैं जो प्रोटीन को पचाने में सहायता करता हैं। कीवी फल के नियमित सेवन से पाचन तंत्र मजबूत बनता हैं और भोजन को पचाने में आसानी होती हैं क्योंकि कीवी में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो पाचन में मदद करता हैं। कीवी फल को खाने से आपको कब्ज़ की समस्या नहीं रहती हैं।

खुबसूरत स्किन के लिए

कीवी आपको स्वस्थ्य तो रखता ही हैं, साथ ही यह आपकी खूबसूरती बढ़ाने में भी मदद करता हैं। इसके कुछ स्लाइस काट कर कर चेहरे पर लगाने से आपके चेहरे में निखार आता हैं और यह चमकाने लगता हैं। कीवी को खाने से रंग गोरा करने में भी मदद मिलती हैं।

सर्दी-जुकाम में फायदेमंद

कीवी में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। कीवी के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत बनता हैं और आपको सर्दी-जुकाम से राहत मिलती हैं। सर्दी-जुकाम से बचने के लिए कीवी फल को खाए, क्योंकि इसे खाने से आप जल्दी से सर्दी-जुकाम के शिकार नहीं बन पाते हैं।

आँखों के लिए फायदेमंद

उम्र के बढ़ने के साथ ही आपको ARMD (Age related Macular Degeneration) होने का खतरा बढ़ जाता हैं। लेकिन कीवी फल को खाने से आँखों की बीमारियाँ होने का खतरा कम हो जाता हैं। कीवी में विटामिन ए और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो आँखों की रोशिनी को भी बढ़ाने में मदद करते हैं और आँखों को लम्बे समय तक खराब होने से भी बचाते हैं।

अच्छी नींद लाने में सहायक

कीवी फल में सेरोटोनिन स्लीपिंग डिसऑर्डर का उपचार करने का गुण पाया जाता हैं। अगर आप भी अनिद्रा के शिकार हैं या फिर आपको नींद न आने की समस्या हैं तो रोजाना सोने से पहले 2 कीवी फलो को खाईये, इसके सेवन से आपको अच्छी नींद आने लगती हैं।

ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल करे

कीवी के सेवन से ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल में रखा जा सकता हैं। 100 ग्राम कीवी में 312 मिलीग्राम पोटैशियम पाया जाता हैं जो ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में मदद करता हैं।

ऑस्टियोपोरोसिस और गठिया में फायदेमंद

ऑस्टियोपोरोसिस और गठिया के मरीज़ को कीवी फल जरूर खाना चाहिए, इससे आपको काफी फायदा होगा।

सूजन कम करने में

कीवी एक शक्तिशाली इन्फ्लेमेटरी हैं इसलिए अगर आपको आर्थराइटिस की समस्या हैं तो इसे खाना शुरू कर दीजिये। कीवी फल को खाने से जोड़ो की सूजन में राहत मिलती हैं और यह कम हो जाता हैं।

मोटापा कम करे

इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम मात्रा में पाया जाता हैं जिस वजह से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा ज्यादा नहीं हो पाती हैं। इसलिए कीवी को खा कर आप अपना मोटापा भी कम कर सकते हैं।

source: https://acchitips.com/

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply