सेक्स पॉवर,वीर्य पतला,शीघ्रपतन के लिए कौंच के बीज हैं सबसे ज्यादा शक्तिशाली

0

कौंच के बीज वियाग्रा से 10 गुना ज्यादा शक्तिशाली होते है, चाहे लिंग कमजोर, वीर्य पतला, नपुंसकता या शीघ्रपतन हो सभी का रामबाण उपाय कौंच

कौंच जो भारत के लोकपिर्य औषधीय पोधो में से एक हैं। यह भारत के मैदानी इलाक़ो में झाड़ियो के रूप में फैली हुई होती हैं इस झाड़ीय पौधे की पत्तिया निचे की और झुकी हुई होती हैं। इसके भूरे रेसमी ठंडल 6 .3  से 11 .3  सेंटीमीटर लम्बे होते हैं इसमे झुके हुए गहरे बैगनी फूलो के  गुछे होते हैं जिसमे करीब 6  से 30  फूल होते हैं इस पौधे पर सेम जैसी फलिया लगती हैं। कौंच के पौधे के सभी भागो में औषधीय गन मौजूद होते हैं इसकी पत्तिया बीजो व् शाखाओ का प्रयोग दवा के तोर पर किया जाता हैं। ज्यादतर कौंच का इस्तेमाल लंबे समय तक सेक्स की कूवत बरकरार रखें के लिए किया जाता हैं। जिन खिलाड़ियों की मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता हैं उनके लिए भी कौंच का इस्तेमाल मुफीद होता हैं। इसके बीजो के इस्तेमाल से याद रखने की कूवत बढ़ती हैं वजन बढ़ाने में भी कौंच का इस्तेमाल कारगर साबित होता हैं। इसके आलावा गेस दस्त खांसी गठिया दर्द मधुमेह टीबी व् मासिक धर्म की तकलीफो के इलाज के लिए भी कौंच के बीजो का इस्तेमाल किया जाता हैं।

To improve sex power

कौंच के गुण

कौंच वीर्यवर्धक ,मधुर ,पुष्टिवर्धक ,भारी,वातनाशक ,बलदायक और कफ पित्त तथा रुधिरविकार नाशक हैं इसके बीज वातनाशक और अतंयंत वाजीकारक हैं यह कृमिनाशक ,कोमोद्दीपक, कसैले टॉनिक हैं यह प्रजनन अंगो के लिए सबसे अच्छा टॉनिक हैं।

कौंच के बीजो का इस्तेमाल

  • कौंच के बीजो का इस्तेमाल करने के लिए उनको दूध या पानी में उबाल कर उन के ऊपर का छिलका हटा देना चाहिए। इसके बाद बीजो को सुखाकर बारीक़ चूर्ण बना लेना चाहिए इस चूर्ण की 5  ग्राम की मात्रा को मिश्री व् दूध में मिलाकर रोज सुबह शाम इस्तेमाल करने से मर्दो के अंग का ढीलापन व् शीघ्रपतन का रोग दूर होता हैं।
  • कौंच के बीजो के साथ सफेद मूसली और अश्व्गन्धा के बीजो को बराबर मात्रा में मिश्री के साथ मिलाकर  बारीक़ चूर्ण तैयार करके सुबह शाम एक चम्मच मात्रा दूध के साथ लेने से मर्दो की तमाम सेक्स सबंधी परेशानिया दूर होती हैं।
  • कौंच के बीजो के साथ शतावरी गोखरू तालमखाना अतिबला और नागबला को एक साथ मात्रा में मिलाकर बारीक़ चूर्ण तैयार क्रेक इस चूर्ण को मिश्री मिलाकर 2 -2  चम्मच सुबह और शाम के वक्त दूध के साथ रोज लेने से मर्द के अंग की कूवत बढ़ती हैं। सोने से 1  घँटा पहले इस चूर्ण को गुनगुने दूध के साथ लेने से मर्द की सेक्स पावर और स्टेमिना बढ़ता हैं।
  • कौंच के बीजो के साथ उड़द गेहू चावल शक्कर तालमखाना और विदारीकन्द को बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ पीस कर दूध मिलाकर आटे की तरह गूँथ कर इसकी छोटी छोटी पुड़िया बनाकर गाय के घी में तले इन पूड़ियों को दूध के साथ खाने से भी बहुत फायदा होता हैं।
  • 100 -100  ग्राम कौंच के बीज शतावरी उड़द खजूर मुनक्का दाख व् सिघाड़े को मोटा पीसकर 1  लीटर दूध व् 1  लीटर पानी में मिलाकर हल्की आग पर पकाये गाड़ा होने पर आग से उतरे और ठंडा होने पर छान ले इसमे 300  -300  ग्राम चीनी वंशलोचन का बारीक़ चूर्ण और घी मिलाये इस मिश्रण की 50  ग्राम मात्रा में शहद मिलाकर रोजाना सुबह शाम खाने से बल बढ़ता हैं।

कौंच के अन्य लाभ

  • कौंच तनाव और चिंता को दूर करता हैं यह खासतौर पर यों ग्रन्थियों को मजबूती प्रदान करता हैं यह तंत्रिकातंत्र के लिए एक खास पोषक तत्व के रूप में काम करता हैं।
  • कौंच कोलोस्ट्रोल कम करने की एक खास दवा हैं साथ ही यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के लिए एक खास दवा हैं इसके अलावा यह एक मानसिक टॉनिक के रूप में काम भी करता हैं।
SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply