संतरा खाने के फायदे और सही समय | santara khane ka shi samay

0

संतरा सर्दी हो या गर्मी दोनों ही मौसमों में ही फायदेमंद होती है। संतरा की तासीर ठंडक देने वाली होती है। सर्दियों में इस डर से इसका साथ ना छोड़े की यह ठंडी तासीर का होता है। यह आपको सर्दियों में होने वाली अनेको बिमारियों से दूर रखने की सलाहियत रखता है।

संतरा शरीर में विटामिन सी की कमी को पूरा करती है। क्योंकि इसे विटामिन सी का भंडार माना जाता है। इसके इलावा संतरे में एमिनो एसिड विटामिन ए, बी काम्प्लेक्स, कैल्शियम, आयोडीन, सोडियम फास्फोरस जैस मिनरल्स पाएं जाते हैं। संतरा खाने से शरीर को चुस्त और दुरूस्त रखता है। साथ ही यह सुंदरता को भी बढ़ाता है। इतना ही नहीं हम इसके जिस छिलके को कूड़ेदान में फैक देते है वह भी बहुत गुणकारी है। त्वचा समन्धित रोगो को दूर रखने में नंबर 1 होता है इसका छिलका।

आइये जानते हैं संतरा कैसे आपके लिए फायदेमंद होता है।

संतरा खाने के फायदे

1. हृदय के लिए

ह्रदय के संतरे में एंटीऑक्सिडेंट, फोलेट और पोटेशियम की मौजूदगी होती है. एंटीऑक्सिडेंट्स विशेष रूप से विटामिन सी, संतरे में मौजूद हैं जो मुक्त कण से धमनियों की रक्षा करते हैं. ये कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को भी रोकते हैं. इसके अतिरिक्त संतरे में फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं जो प्लेटलेट्स को एक साथ चिपकने से रोकने और शरीर के कोशिकाओं में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को ले जाने वाले रक्त वाहिकाओं को मजबूत करते हैं. हृदय स्वास्थ्य के लिए इसमें पाया जाने वाला पोटेशियम हृदय कार्य और मांसपेशी संकुचन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

2. चोट के घावो को जल्दी भरें

संतरे के रस पीने से शरीर में घाव जल्दी से भरते हैं क्योंकि संतरे में फोलेट तत्व होता है। यह शरीर में नए सेल्स बनाने में मदद भी करता है जिससे घाव भर जाते हैं।

3. त्वचा के लिए

संतरे में पाया जाने वाला विटामिन सी का एंटीऑक्सिडेंट सूरज और पर्यावरण प्रदूषण के संपर्क से होने वाले त्वचा के नुकसान को रोकता है. ये कोलेजन के गठन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. इससे त्वचा में लोच, सुधार और झुर्रियों को कम करने में सहायता मिलती है. संतरे में बीटा-कैरोटीन और विटामिन सी स्किन रिपेयर करने का काम करते हैं.

4. कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए

संतरे में पेक्टिन नाम का एक घुलनशील फाइबर भी पाया जाता है जो शरीर से कोलेस्ट्रॉल को समाप्त कर देता है. कोलेस्ट्रॉल ब्लड स्ट्रीम में अवशोषित हो न जाएँ इसके लिए इसमें फ्लैवोनोन हेस्पेरिडिन होते हैं. ये कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ-साथ रक्तचाप के स्तर को भी करते हैं.

5. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

संतरे में मौजूद विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए जरुरी है. विटामिन सी, बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने वाले श्वेत रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में वृद्धि करती है. इसके अलावा संतरे में बहुत सारे पॉलीफेनोल भी होते हैं जो वायरल संक्रमणों से बचाने का काम करते हैं. इसके अलावा, संतरे विटामिन ए, फोलेट और तांबे जैसे पोषक तत्व भी हैं जो प्रतिरक्षा को बढ़ाते हैं.

6. गठिया रोग में लाभदायक

संतरे के रस का सेवन करने से गठिया के रोगियों को फायदा होता है। जिससे गठिया के दर्द में राहत मिलती है। प्रतिदिन एक गिलास संतरे का जूस पीकर आप गठिया से होने वाली परेशानी से काफी हद तक छुटकारा पा सकते है।

7. किडनी के विकारों में

विटामिन सी, गुर्दा की स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है. जो कि मूत्र में साइट्रेट के स्तर को बढ़ाकर कैल्शियम ऑक्सलेट बनाकर गुर्दे की पथरी के विकास के खतरे को कम करता है. ये यूरिक एसिड और कैल्शियम ऑक्सलेट के क्रिस्टलीकरण को कम करके किडनी स्टोन के गठन को भी रोकने का काम करता है.

8. कैंसर में

कैंसर जैसी गंभीर बिमारी से लड़ने में भी संतरा महतवपूर्ण साबित होता है. ऐसा संतरे में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट यौगिकों की वजह से संभव हो पाता है. इसमें मौजूद हेस्पेरिडिन और नारीर्निनिन भी मुक्त कणों से लड़ते हैं. इसके अलावा इसमें मौजूद ज़ेक्सांथिन और कैरोटीनोइड भी विभिन्न प्रकार के कैंसर, विशेष रूप से प्रोस्टेट कैंसर से बचाव करते हैं. लिमोनोइड्स मुंह, स्तन, फेफड़े, त्वचा, पेट और बृहदान्त्र के कैंसर से मुकाबला कर सकता है.

9. आँखों के लिए

हमारे आँखों के लिए महत्वपूर्ण माना जाने वाला बीटा-कैरोटीन और विटामिन ए भी संतरे में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. इसके अलावा इसमें अन्य कैरोटीनॉड्स भी मौजूद होते हैं जो कि विटामिन ए में परिवर्तित हो जाते हैं. कैरोटीनॉयड ल्यूटिन और ज़ेक्सैथिन पुरानी नेत्र रोगों से बचाने के लिए जाने जाते हैं. विटामिन सी और संतरे में पाए जाने वाले अन्य एंटीऑक्सीडेंट मोतियाबिंद के विकास के जोखिम को कम करते हैं.

10. वजन घटाने के लिए

ये वजन घटाने में भी काफी उपयोगी माना जाता है. क्योंकि इसमें उच्च फाइबर और विटामिन सी सामग्री वजन घटाने को प्रोत्साहित करती है. फाइबर आपको जल्दी से भूख नहीं लगने देता है और पूरे दिन कम खाने में मदद करता है जबकि विटामिन सी ग्लूकोज को ऊर्जा में परिवर्तित कर देती है. ये वसा को जलाने में सहायक है. इसमें पोषक तत्व भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है.

11. त्वचा की उम्र बढ़ने से रोके

संतरा उम्र को रोकने वाला फल माना जाता है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट यौगिक प्रचुर मात्रा में पाया जता है. एंटीऑक्सीडेंट, मुक्त कणों से लड़ते हैं जो जल्दी बुढ़ापा और कई डिजेनरेशन बीमारियों का कारण बनाते हैं.

12. मधुमेह के लिए

शुगर में भी संतरा काफी सहायक साबित होता है. यदि आप नियमित रूप से संतरे का सेवन करें तो आपको शुगर में काफी लाभ मिलेगा. इससे आपके रक्त में शर्करा के स्तर को बहुत प्रभावी ढंग से संतुलित कर सकते हैं.

13. दांतों और मसूड़ों के लिए लाभकारी

संतरा दांतो के लिए बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें विटामिन सी पाया जाता है। यह मसूड़ों और दांतों की बीमारी को भी खत्म करता है। इसमें मौजूद विटामिन सी मसूड़ों को हेल्दी बनाता है।

14. बालों के लिए

संतरा में आपके बालों और त्वचा के लिए आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं. दरअसल इसमें बालों को मजबूत करने वाले बायो-फ्लैनोयोइड के साथ विटामिन सी स्कॅल्प के संचालन में सहायता करता है. जो कि बदले में बालों के विकास को बढ़ावा देता है.

15. पाचन में सहायक

संतरा में फाइबर की प्रचुरता होती है. फाइबर आसानी से भोजन को पचाने में आपकी मदद करता है. इसके अलावा ये पाचन एंजाइम या रस को रिहा करने में मदद करता है जो. ये एंजाइम भोजन को प्रभावी तरीके से पचाने में मदद करते हैं.

16. छोटे बच्चों के लिए संतरे के फायदे

बच्चों के दांत निकलते समय वे काफी कमजोर हो जाते हैं। जिसकी वजह से उन्हें दस्त आदि लग जाते हैं। ऐसे में संतरे का रस देने से बच्चों में बेचैनी दूर होने के साथ उनकी पाचन क्रिया भी ठीक हो जाती है।

17. बवासीर में फायदेमंद

अगर आप बवासीर से परेशान है तो खाना खाने के बाद नियमित रूप से आधा गिलास संतरे के जूस का सेवन करें। इससे बवासीर में आराम मिलता है साथ ही पेट के अल्सर के लिए भी यह फायदेमंद साबित होता है।

18. माउथ फ्रेशनर के रूप में

संतरे से बनी चाय का उपयोग काफी समस्याओं का निदान करता है. इसका प्रयोग हम माउथ फ्रेशनर के रूप में भी किया जाता है. मौखिक स्वच्छता बनाए रखने में एक कप संतरे की चाय काफी लाभदायक साबित होती है.

संतरे खाने का सही समय

इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सुबह और रात में इसे न खायें, संतरे को हमेशा दिन के समय में खाएं। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि इसे हमेशा खाना खाने के 1 घंटा पहले या बाद में खाएं। पहले खाने से भूख बढ़ती है और बाद में खाने से भोजन पचाने में आपको मदद मिलती है। संतरा एक मीठी दवा की तरह काम करता है। रोज दो संतरा खाने से जुकाम, कोलेस्ट्रॉल, किडनी में पथरी और कोलन कैंसर जैसी बीमारियों से रक्षा होती है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply