जानिए दूध किस समय पीना हमारी सेहत के लिए अच्छा होता है

0

बचपन से ही माएं बच्चों को दूध पीने के लिए डांटती भी हैं और इसके फायदे बता कर समझाती भी हैं| दूध में विटामिन ए, के और बी 12, थाइमिन और निकोटिनिक एसिड, मिनरल जैसे- कैल्शियम, फास्फोरस, सोडियम और पोटेशियम पाए जाते हैं, जो हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद है और इससे हमें ताकत मिलती है|

अक्सर देखा गया है कि बच्चों को तो हम दूध पीने पर बहुत जोर देते हैं लेकिन घर के अन्य सदस्यों को पर दूध के मामले में उतना ध्यान नहीं देते|जबकि बढ़ती उम्र में भी दूध पीना उतना ही जरूरी है जितना बचपन में| वहीं लोग अपने कंफर्ट के हिसाब से दूध पीते हैं जैसे बच्चों को दूध नाश्ते में दिया जाता है तो बड़े-बुजुर्ग दूध रात में सोने से पहले पीना पसंद करते हैं|

दूध पीने का सही समय क्‍या है, इस बात को लेकर हर किसी के मन में दुविधा रहती है| कई लोग कहते हैं दूध नाश्ते के साथ पीना अच्छा होता है तो कई लोग इसे रात में पीना सही समझते हैं| हालांकि अगर दूध का सेवन दिन में किया जाए तो यह हमें दिनभर एनर्जी देता है और रात में लिया जाए तो यह दिमाग को शांत करके अच्छी नींद लाने में सहायक होता है|

वहीं आयुर्वेद रात में दूध पीने को प्राथमिकता देता है| अगर दूध पीने के सही समय को लेकर आप भी हैं दुविधा में तो जानिए ये कुछ जरूरी बातें…

क्या होता जब आप अलग-अलग समय पर दूध पीते हैं…

सुबह: पचाने में भारी होने के कारण सुबह दूध पीने से मना किया जाता है।
दोपहर: दोपहर के समय दूध पीना बुजुर्गों के लिए फायदेमंदह होता है क्‍योंकि इससे बुजुर्गों को ताकत मिलती है।
शाम: शाम के समय दूध पीना आंखों के लिए बहुत अच्‍छा होता है।
रात: रात को दूध पीने सबसे अच्‍छा माना जाता है क्‍योंकि इससे शरीर की थकान मिटती है और नींद अच्‍छी आती है।

ये हैं रात को दूध पीने के लाभ

  • दूध में प्रोटीन होता है जो कि मांसपेशियों के विकास के लिये लाभदायक होता है।
  • दूध में ट्रीप्‍टोफन नामक अमीनो एसिड की मौजूदगी से नींद के हार्मोंन स्‍तर को बढ़ाने में मदद मिलती है। इसी कारण से रात को दूध पीने से अच्‍छी नींद आती है।
  • दूध कैल्शियम का अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। साथ कैल्शियम शाम को कम गतिविधि स्‍तर के कारण बेहतर तरीके से अवशोषित हो जाता है।

the-right-time-of-drinking-milk

दूध पीने से पहले जान लें कुछ जरूरी बातें

  • कमजोर पाचन, त्वचा संबंधी समस्‍याओं, खांसी, अपच और पेट में कीड़े जैसी समस्‍याओं से परेशान लोगों को दूध के सेवन से बचना चाहिए|
  • दूध को कभी भी भोजन के साथ नहीं पीना चाहिए क्‍योंकि यह जल्‍द हजम नहीं हो पाता. इसे हमेशा अलग से गर्म करके पीना चाहिए|
  • लैक्‍टोज असहिष्णु लोगों को दूध पीने से बचना चाहिए।
  • दूध को ठंडा, ज्‍यादा और अनुपयुक्त खाद्य पदार्थों के साथ लेने पर यह सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

– आयुर्वेद के अनुसार रात को सोने से पहले दूध पीने के लिए जरूरी है कि आप शाम के भोजन के दो घंटे बाद ही इसे पि‍एं ताकि आपको रात को दूध पीने का लाभ मिल सके.

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply