रोज की पूजा में करे ये 4 काम, हर क्षेत्र में होगी दोगुनी तरक्की

0

हिन्दू धर्म में मूर्ति पूजा का विधान है और 33 करोड़ देवी-देवताओं वाले इस धर्म में सभी इष्ट देवों को एक विशिष्ट स्थान प्रदान किया गया है।मूर्ति पूजा पर विश्वास करने वाले प्राय: सभी हिन्दू घरों में मंदिर बनाए जाते हैं जिसमें आराध्य देवी-देवताओं की मूर्तियों और तस्वीरों को स्थापित किया जाता है। हिन्दू धर्म परंपरा में घर में मंदिर होना महत्वपूर्ण माना गया है। माना जाता है इससे नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश बाधित होता है और घर में ईश्वर का आशीर्वाद बना रहता है।

इस मान्यता पर विश्वास करने वाले लोग अपने मंदिर में अपने इष्ट देवता की मूर्ति को स्थापित कर उनसे सुख-शांति की कामना करते हैं। सुबह और शाम, घर में धूप-अगरबत्ती जलाना भी जरूरी कहा गया है जिसका पालन भी आवश्यक तौर पर किया जाता है। इन सभी के बावजूद कुछ ऐसे गलतियां हो जाती हैं, जिनकी वजह से शुभ की जगह परिवार पर अशुभ के बादल मंडराने लगते हैं। घर में स्थान के हिसाब से छोटे-बड़े मंदिर बनवाए जाते हैं और बड़ी श्रद्धा के साथ उनमें देवी-देवताओं को स्थापित किया जाता है। परंतु कुछ ऐसी गलतियां हैं जो अकसर लोग अनजाने में कर ही जाते हैं। आइए जानते हैं घर में मंदिर स्थापित करते समय किन-किन बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

  1. अगर आप के पूजा घर मे भगवान विष्णु और कृष्णा की तस्वीर या मुर्ति है तो उन्हें सबसे पहले भोग लगये उस्के बाद ही आप भोजन करें अगर आप ऐसा नही करते है तो घर मे बरकत नहीं बनी रहती है।
  2. तुलसी का पत्ता भगवान के शिश पर और भोग मे अर्पित करे कहते है तुलसी के बिना पूजा पुरी नहीं होती और भगवान इसे स्वीकार नहीं करते।
  3. पूजा करते समय पुराने फूल अर्पित ना करें हमेशा ताजे फूलो की माला ही भगवान को अर्पित करें।
  4. हमेशा घर घी का दीपक ही जालये इससे घर मे सकारातमक्ता आती है।
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply