शरीर की सारी गंदगी को बाहर निकाल देगा केवल एक ही रात में

2

शरीर की सम्पूर्ण सफाई करने के लिए ये चूर्ण बहुत विशेष है, इस चूर्ण का उपयोग विशेष शरीर की सम्पूर्ण गंदगी को बाहर निकालने के लिए, आँतों की सफाई के लिए, पेट की सफाई के लिए, लीवर, तिल्ली, शूल एवम गर्भ के रोगों में भी बहुत लाभदायी है।

सामग्री

कालादाना – 30 ग्राम (कालादाना को कृष्ण बीज भी कहते हैं.)
स्नाय – 30 ग्राम
काला नमक – 10 ग्राम

सबसे पहले कालादाना और स्नाय को पीस कूट कर छान ले, बाद में नमक को पीस और छान कर उसी चूर्ण में मिला दे। बस हो गया आपका चूर्ण तैयार। यह चूर्ण कब्ज मिटाने और दस्त खोलने में बहुत उपयोगी है।

यह चूर्ण यकृत, प्लीहा, शूल, और गर्भाशय, के रोगों में भी दिया जाता है, इनके सिवा, जिन रोगों में दवा देने से पहले कोठा साफ़ करने (पेट को बिलकुल साफ़) की ज़रूरत होती है, उन सबमे इसे दे सकते हैं। इसमें यह खूबी है के इससे पतला दस्त नहीं आता पर कोठे का सारा मल, बंधे हुए दस्त के रूप में निकल जाता है।

सेवन विधि

इसकी सेवन की मात्रा 2 ग्राम से 5 ग्राम तक की है। रात को सोते समय चूर्ण फांक कर ऊपर से गुनगुना जल पीना चाहिए। सवेरे ही एक या दो दस्त खुलासा होने से शरीर हल्का हो जाता है। पहले इसे थोड़ी मात्रा में सेवन करना चाहिए, बाद में मात्रा बढ़ा सकते हैं। लेकिन इस निर्देश के साथ के बराबर अनुसार आरम्भ में मात्रा कम लें, अन्यथा पतले दस्त हो सकते हैं। इस दवा के खाने से पेट में दर्द सा होता है। क्यूंकि यह चूर्ण आँतों में जमे हुए मल को खुरचता है।ऐसी दशा में थोड़ी सी सौंफ मुंह में रख कर चूसने से शीघ्र ही मल निकल जाता है।

SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

2 COMMENTS

Leave a Reply