केला खाने के फायदे और सही समय

0

ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि केला मोटा बनाता है और इसी चिंता की वजह से हम केला खरीदना तक बंद कर देते हैं. पर जब आपको यह पता चलेगा कि केला खाना स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है तो आप यकीन नहीं कर पाएंगे.
वजन बढ़ने की कई वजहें हो सकती हैं. ऐसा सिर्फ केवल केला खाने से नहीं हो सकता. कई बार मोटापे की वजह अनुवांशिक हो सकती है. कुछ मामलों में यह लाइफस्टाइल की वजह से भी होता है. आपका मोटापा केले के अलावा खाने में ली जाने वाली दूसरी चीजों और आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म पर भी निर्भर करता है.

ऐसे में केले को मोटापे से जोड़कर देखना और इस वजह से उसे खाना छोड़ देना गलत होगा. आपको शायद ताज्जुब हो लेकिन केले का सेवन आपकी जिन्दगी को स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी बेहतर बना सकता है. इसके लिए आपको हर रोज केवल एक केला खाने की जरूरत है.

बहुत पौष्टिक होता है केला

अगर आप 125 ग्राम का एक केला खाते हैं, तो इससे इतने सारे पोषक तत्व मिलते हैं कि आप हैरान रह जाएंगे।110 कैलोरी

  • 30 ग्राम कार्बोहाइड्रेट
  • 1 ग्राम प्रोटीन
  • 0.3 मिलीग्राम मैंग्नीज
  • 450 मिलीग्राम पोटैशियम
  • 34 मिलीग्राम मैग्नीशियम
  • 0.3 मिलीग्राम आयरन
  • 0.1 मिलीग्राम राइबोफ्लेविन
  • 0.8 मिलीग्राम नियासिन
  • 81 इंटरनेशनल यूनिट विटामिन ए
  • 0.5 मिलीग्राम विटामिन बी-6
  • 9 मिलीग्राम विटामिन सी
  • 3 ग्राम डाइट्री फाइबर और
  • 25 माइक्रोग्राम फॉलेट

इसके अलावा केले की खास बात ये है कि इसमें प्राकृतिक रूप फैट, कोलेस्ट्रॉल और सोडियम बिल्कुल नहीं होता है, जबकि पोटैशियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। एक व्यक्ति को एक दिन में 4700 मिलीग्राम पोटैशियम की जरूरत होती है।

केले से दूर रहती हैं ये बीमारियां

1. दिल संबंधी रोग

एक शोध के मुताबिक रोजाना 1 केला नाश्ते में,1 दोपहर को खाने  में शामिल करने से दिल की बीमारियों से राहत मिलती है।

2. हड्डियां मजबूत

केले में पोटाशियम होता है जो हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद है। शरीर में पोटेशियम की कमी को पूरा करने के लिए बच्चों और बूढों को रोजाना केले का सेवन जरूर करना चाहिए।

3. सीने की जलन

सीने की जलन होने की परेशानी हो तो केला खाने से आराम मिलता है।

4. सुबह की कमजोरी

सुबह उठने के बाद कमजोरी महसूस हो तो रोजाना खाना खाने से पहले 1 केले का सेवन करने से कमजोरी दूर हो जाती है।

5. डिप्रैशन

मानसिक तनाव को दूर करने में केला बहुत फायदेमंद है,इसमें ट्रीप्टोफन(Tryptophan) नाम का तत्व पाया जाता है। खाना खाने के बाद रोजाना केले का सेवन करने से तनाव दूर रहता है।

6. एनीमिया

केला खाने से खून की कमी दूर होती है। इसमें आयरन होता है जो शरीर में रक्त की कमी को पूरा करता है।

7. दिमाग की कमजोरी

केला दिमाग को तेज रखता है। बच्चों को रोजाना नाश्ते,दोपहर के खाने के बाद केला खिलाने से परीक्षा के दिनों में बहुत लाभ मिलता है।

8. दस्त

केले में फाइबर होता है। दस्त की शिकायत होने पर 2 केले दही के साथ खाने से दस्त से आराम मिलता है।

9. पाचन प्रक्रिया

केले में फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो खाना पचाने में मदद करते है। केला पेट के कीड़े मारने में मददगार है।

10. यादाशत बढ़ाए

केला विटामिन बी 6 का एक बढ़िया स्रोत है जोकि नर्वस सिस्टम को ठीक रखता है। इसके अलावा याददाश्त और दिमाग तेज करता है।

केला खाने का सही समय

सुबह में खाली पेट केला नहीं खाया जाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से आपको भूख कम लग सकती हे। जो आपके शरीर के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है। हम में से अधिकांश रात में सोने से पहले केला खा लेते हैं, अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपको अपनी आदत में सुधार करने की ज़रूरत है। क्योंकि आप रात में केले खाने से बीमार हो सकते हैं। रात में केले खाने से आपको खांसी और खांसी की समस्या हो सकती है।

आयुर्वेद के अनुसार अगर आप केला ब्रेक्फ़स्ट लेने के बाद खाते है तो ये आपके शरीर के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है। और केला खाने का सही समय सुबह आठ से नो बजे का है।

केले खाने के नुकसान

केला बिलकुल भी हानिकारक नहीं होता. लेकिन आप किस समय इसका सेवन करते हो या इसे कैसे लेते हो यह नुकसानदायक इसे बना सकता है. जैसे रात को केला खाना ठीक नहीं होता तो आप जानबूझकर केले का सेवन रात को न करे. कभी भी केला खाने के बाद पानी ना पिए वरना यह नुकसान कर सकता है.

जिन लोगो को रेशे या बलगम की समस्या रहती है उन्हें केले खाने से बचना चाहिए वरना केला रेशा और बढ़ा देगा. अगर आप इन चीजो का ध्यान रखते है तो केले खाने के बिलकुल भी नुकसान नहीं है. जो भी होगा इसका फायदा ही होगा.

सेब खाने के फायदे

0

सेब सबसे लोकप्रिय फलों में से एक हैं – और इससे भी बढ़िया बात यह है की बहुत से अनुसंधानों के रिसर्च ने यह साबित किया है की सेब के हेल्थ के लिए एक रामबाण फ्रूट है। सेब फलों में सबसे ज्यादा गुणकारी माना जाता है. इसमें मौजूद विटामिन पोषक तत्व हर तरह की बीमारी को दूर करने में मदद करते हैं. अगर आप रोजाना सुबह खाली पेट एक सेब का सेवन करते हैं तो आपके शरीर की इम्युनिटी पावर मजबूत हो जाती है. इस आलेख में सेब के स्वास्थ्य लाभों की अनगिनत लिस्ट में से कुछ बैहतरीन फायदों के बारे में बताया गया है।

खाली पेट सेब खाने के फायदे

कब्ज से छुटकारा

सुबह पेट न साफ हो तो सारा दिन परेशानी रहती है। कब्ज,गैस और पाचन क्रिया से परेशान हैं तो खाली पेट सेब का सेवन करें। इसमें मौजूद फाइबर कब्ज को धीरे-धीरे बिना नुकसान कम करता है। इसकी जगह पर सेब का मुरब्बा भी खा सकते हैं।

खून की कमी

आयरन की कमी होने पर शरीर में कमजोरी महसूस होने लगती है। इसका सीधा असर खून पर पड़ता है। रोजाना खाली पेट सेब का सेवन करने से एनिमिया से छुटकारा पाया जा सकता है। इसमें आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो खून को साफ करने का भी काम करता है।

ब्लड शुगर कंट्रोल

सेब डायबिटीज रोगी के लिए बैस्ट है। सेब को छिलके समेत खाने से खून में शूगर लेवल कंट्रोल रहता है।

पाचन क्रिया मजबूत

पाचन क्रिया कमजोर होने से शरीर को कई तरह के रोग घेर लेते हैं। सेब शरीर में मौजूद पीएच के स्तर को नियंत्रित करने का काम करता है। इससे पाचन तंत्र मजबूत होता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करें

बदलती जीवनशैली में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या आम होती जा रही है. इस कारण कम उम्र के बच्चे भी हृदय रोग का शिकार हो रहे हैं. सेब खाने या सेब का जूस पीने से बढ़ते कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को रोका जा सकता है. चिकित्सक हृदय रोगियों के लिए उबला हुआ ज्यादा फायदेमंद बताते हैं.

खूबसूरती बढ़ाए

सेब का सेवन करने से आपके चेहरे पर होने वाले काले और सफेद धब्बे कम हो जाते हैं. जिससे आपके चेहरे पर ग्लो आता है. साथ ही इसका प्रतिदिन सेवन करने से आपके शरीर में मौजूद अनावश्यक चर्बी धीरे-धीरे कम हो जाती है, जिससे आप आकर्षक लगने लगते हैं.

दांतों को स्वस्थ रखें

सेब में फाइबर होता है जिससे आपके दांत स्वस्थ रहते हैं. सेब का सेवन बैक्टीरिया और वायरस को दूर भगता है. साथ ही सेब से आपके मुंह में थूक की मात्रा बढ़ जाती है. सेब का सेवन करने से आपके दांत पायरिया रहित रहते हैं.

हड्डियां मजबूत

सेब में प्रचुर मात्रा में कैल्शिम पाया जाता है. इस कारण प्रतिदिन सेब का सेवन करने या इसका जूस पीने से हड्डियां मजबूत होती है. जिस व्यक्ति की हड्डियां मजबूत होती हैं उसे थकान कम महसूस होती है. तो खाली पेट 1 सेब का सेवन करने से बहुत फायदा मिलता है।

चश्मा हटाए

आजकल बड़ों से लेकर छोटे-छोटे बच्चे भी चश्मा लगाकर घूमते हैं। आंखों की कमजोर होती रोशनी को बढ़ाने के लिए बच्चों को रोजाना 1 सेब खिलाएं।

दमा रोगी के लिए फायदेमंद

सांस की बीमारी यानि दमा से छुटकारा पाने के लिए सेब या फिर सेब के जूस का सेवन करें। सेब में मौजूद फ्लेवोनोइड्स फेफड़ों को ताकतवर बनाता है। इससे दमा रोग से राहत मिलती है।

मोटापा घटाए

मोटापा कई बीमारियों को न्यौता देता है। इसे कम करने के लिए सेब खाना शुरू करें। सेब का फाइबर कैलोरी को बर्न करने में मददगार है।

पथरी से बचाए

गुर्दे में होने वाली पथरी से बचाव के लिए सेब का सेवन लाभदायक रहता है. यदि आपके पथरी हो भी गई है और आपप्रतिदिन सेब खाते हैं तो आपको पथरी के कारण होने वाले दर्द में भी आराम  मिलेगी. इसलिए पथरी रोगियों को चिकित्सक भी सेब खाने की सलाह देते हैं.

अल्जाइमर से बचाएं

अल्जाइमर मस्तिष्क से जुड़ी खतरनाक बीमारी है. एक शोध में पाया गया है कि प्रतिदिन सेब का जूस पीने से अल्जाइमर की समस्या से जीवनभर बचा जा सकता है. सेब के सेवन से मस्तिष्क की कोशिकाओं की रक्षा होती है, जिससे अल्जाइम होने का खतरा न के बराबर होता है.

सेब खाते समय रखे ये सावधानी

अगर कोई शख्स सेब में मौजूद बीजों का सेवन कर लेता है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो सकता है।

इसका कारण इन बीजों में मौजूद अमिगडलिन नामक तत्व होता है जो जब पेट में अंदर पाए जाने वाले एंजाइम से मिलता है तो यह साइनाइड का निर्माण करते है। यह सायनाइड किसी भी इंसान को बीमार कर सकता है। अमिगडलिन नामक यह घातक तत्व सेब के अलावा उन अन्य फलों में भी पाया जाता है, जिनके अंदर छोटे बीज होतै है।

‌‌‌सायनाइड की कितनी मात्रा होती है घातक?

सायनाइड किसी इंसान के लिए इस कदर हानिकारक हो सकता है कि अगर की व्यक्ति एक सेब के बीजों को पीस कर खा लेता है तो उसकी मौत भी हो सकती है। बीजो में पाई जाने वाली इसकी मात्रा के बताए तो 1 ग्राम बीजों में 0.06 ml से 0.24 ml तक अमिगडलिन पाया जाता है। इंसानो के लिए 0.5 – 0.8 की मात्रा काफी खतरनाक साबित होती है। यहां तक की यह मात्रा मौत का कारण भी बन सकता है।

इस प्रकार खाएं सेब 

आपको बता दें कि अगर कभी आप गलती से सेब के बीच निगल भी गए हैं तो कोई खतरे की बात नही है, बस आपने उन्हें दांतो से चबाया न हो। सेब को खाने का सही तरीका यही है कि आप सेब को काट कर खाएं और काटते समय उसके सारे बीज अच्छे से निकाल दें।

गुड़ खाने का सही तरीका

0
Jaggery cane sugar isolated on white

गुड़ के सेवन से जहां हमारे शरीर में खून की कमी नहीं होती है. यह एक अच्छा एंटीबॉयोटिक है.गुड़ फायदेमंद होता है ये तो सभी जानते हैं. पर ठंड में इसे खाने के फायदे और भी बढ़ जाते हैं.ठंड में खाली गुड़ खाने के फायदे तो सभी बताते हैं, लेकिन हम आपको बता रहे हैं कि किन चीजों के साथ इसे खाने से ज्यादा लाभ हो सकता है.

कब्ज और गैस की छुट्टी

जिन लोगों को कब्ज, गैस या एसिडिटी की समस्या होती है उन्हें गुड़ जरूर खाना चाहिए. अगर खट्टी डकार आए तो ऐसे में गुड़, सेंधा नमक और काला नमक मिलाकर खाने से आराम मिलता है. यह नुस्खा आजमाने से पाचन शक्ति बढ़ती और भूख लगती है.

बढ़ेगी शारीरिक ताकत

शरीर की कमजोरी दूर करने वाले लोगों को रोजाना 50 ग्राम गुड़ का सेवन करना चाहिए. गुड़ को दूध के साथ लेना बेहतर है. अगर दूध पसंद नहीं है तो फिर एक कप पानी में 5 ग्राम गुड़, थोड़ा-सा नींबू का रस और चुटकीभर काला नमक मिलाकर पीने से थकान उतर जाती है और शरीर में स्फूर्ति आती है.

खांसी में मिलेगा आराम

अगर किसी को ज्यादा दिनों से सूखी खांसी चल रही है तो उसे गुड़ खाना चाहिए. खांसी की शिकायत हो तो चीनी की बजाय गुड़ खाना फायदेमंद माना जाता है. गुड़ को अदरक के साथ गर्म कर खाने से गले की खराश और जलन में राहत मिलती है.

हड्डियां होंगी मजबूत

हड्डियों को मजबूत करने के लिए गुड़ सबसे बढ़िया स्रोत हो सकता है. ठंड में जोड़ों के दर्द से ज्यादातर लोग परेशान होते हैं. ऐसे में उन्हें गुड़ के साथ अदरक का टुकड़ा खाना चाहिए. गुड़ में कैल्‍शियम और फास्‍फोरस खूब पाए जाता हैं. ये दोनों तत्‍व हड्डियों को मजबूत करते हैं.

ब्लड प्रेशर कम करने की रामबाण दवा

ब्लड प्रेशर की समस्या झेल रहे लोगों के लिए गुड़ किसी रामबाण दवा से कम नहीं हो सकता. हाई बीपी के मरीजों को भी डॉक्टर गुड़ खाने की सलाह देते हैं.

सर्दी-जुकाम से दिलाएगा राहत

सर्दी-जुकाम से राहत दिलाने में गुड़ असरकारक हो सकता है. सर्द मौसम में काली मिर्च में और अदरकर व गुड़ मिलाकर खाने से सर्दी-जुकाम से आराम मिलता है.

दिमाग होगा तेज

गुड़ खाने से मूड भी अच्छा बना रहता है. माइग्रेन की शिकायत है तो गुड़ का सेवन करना लाभकारी हो सकता है. नियमित रूप से गुड़ खाने से दिमाग मजबूत बना रहता है और याद्दाश्त भी बढ़ती है.

नजर बढ़ाने में मददगार

जिन लोगों की नजर कमजोर है या किसी आंखों को लेकर किसी भी प्रकार भी समस्या है तो ऐसे लोगों को गुड़ खाना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि गुड़ खाने से आंखों की कमजोरी दूर होती है. गुड़ खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है.

प्रदूषण से बचाएगा इतना गुड़

प्रदूषण से होने वाले नुकसान से बचाने में भी गुड़ काफी असरदार माना जाता है. बहुत ज्यादा धूल भरे माहौल में रहने वाले लोगों को रोजाना 100 ग्राम गुड़ जरूर खाना चाहिए. इससे प्रदूषण से होने वाले दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है.
अगर किसी को ज्यादा दिनों से सूखी खांसी चल रही है तो उसे गुड़ खाना चाहिए. खांसी की शिकायत हो तो चीनी की बजाय गुड़ खाना फायदेमंद माना जाता है. गुड़ को अदरक के साथ गर्म कर खाने से गले की खराश और जलन में राहत मिलती है.

नाभि में लगाए ये एक चीज ,बालों का झड़ना और सफ़ेद बाल रोके

0

नाभि पर केवल घी लगाने से त्वचा से जुड़ी कई समस्या, बालों का झड़ना, घुटनों का दर्द और इत्यादि प्रकार की दिक्कतों से राहत पाई जी सकती है. जी हां हमारे पेट पर स्थित नाभि पर अगर नियमित रूप से घी लगाया जाए तो हम कई प्रकार की परेशानियों से निजात पा सकते हैं. दरअसल नाभि में 70 हजार से भी अधिक रक्त नलिकाएं होती हैं जो कि हमारे शरीर की रक्त धमनियों से जुड़ी होती है. इसलिए नाभि पर घी लगाने से हमारे शरीर को काफी लाभ मिलता है

बालों का झड़ना और सफ़ेद बाल रोके

रात को सोने से पहले अगर नाभि पर देसी घी लगाया जाए तो बालों पर इसका अच्छा प्रभाव पड़ता है और बाल मजबूत हो जाते हैं और इनका गिरना भी बंद हो जाता है. और सफ़ेद बाल काले हो जाते हैं

त्वचा से जुड़े फायदे

अगर नाभि पर घी लगाकर मालिश की जाए तो इससे हमारी त्वचा पर काफी असर पड़ता है और हमारी त्वचा में नमी बनी रहती है. नमी के साथ साथ ही चेहरे की त्वचा भी निखार  जाती है और चमकदार बन जाती है.

सर्दी जुकाम को भगाए

सर्दी जुकाम होने पर भी अगर नाभि पर देसी घी लगाया जाए तो सर्दी जुकाम एकदम भाग जाते हैं. आप चाहें तो घी की जगह पर रूई की मदद से अल्कोहल भी लगाकर जुकाम से राहत पा सकते हैं.

आंखों का सूखापन दूर करे

कई लोगों की आंखे काफी सूख जाती है जिसके चलते उन्हें इनमें जलन होने लगती है. लेकिन देसी घी को गर्म करके नाभि में लगाया जाए तो आंखों के सूख जाने की समस्या खत्म हो जाती है और साथ में ही आंखों की रोशनी पर भी इसका अच्छा असर पड़ता है.

घुटनों का दर्द करे दूर

घुटनों के दर्द की समस्या होने पर आप देसी घी को हल्का गर्म करके उसे नाभि पर लगा लें. ऐसा करने से  इसका सीधा असर घुटनों की दर्द पर पड़ेगा और इस दर्द से राहत मिल जाएगी.

फटे होंठ को बनाएं नरम

नाभि में घी लगाने का जो अन्य फायदा मिलता है वो  होंठों से जुड़ा हुआ है. सर्दी में जिन भी लोगों के होंठ फट जाते हैं वो बस रात को सोने से पहले नाभि पर घी से मालिश कर लें. सुबह तक होंठ एकदम सही हो जाएंगे.

कब्ज की समस्या से मिले राहत

कब्ज की समस्या होने पर आप बस नाभि और उसके आस पास के पेट के हिस्स पर घी से कुछ देर तक मालिश करें. इस मालिश से पाचन क्रिया सही से कार्य करने लग जाएगी और कब्ज की समस्या खत्म हो जाएगी.

कंपन की समस्या दूर होती है

आयु बढ़ने के साथ ही कई वृद्ध लोगा का शरीर कांपना शुरू कर देता है जिसके कारण बूढ़े लोगों को काफी समस्या होती है. वहीं अगर ये समस्या होने पर नाभि पर देसी घी लगाकर उससे नाभि और उसके आसपास मालिश की जाए तो इस समस्या को खत्म किया जा सकता है.

मासिक धर्म में

मासिक धर्म के दौरान दर्द होने पर लड़कियां अपनी नाभि पर घी या फिर ब्रांडी लगा लें. ऐसा करने से उनका दर्द एकदम भाग जाएगा.

पिम्पल्स और दाग-धब्बे गायब करे

कई लोगों को पिम्पल्स और चेहरे पर दाग-धब्बे होने की परेशानी रहती है, जिसके चलते इनके चेहरे की सुंदरता कम होने लगती है.  पिम्पल्स और दाग-धब्बे को गायब करने के लिए लोग तरह तरह की क्रीम का इस्तेमाल भी करते हैं. मगर फिर भी इनसे राहत नहीं मिल पाती है. वहीं अगर नाभि में रात को सोने से पहले देसी घी लगाया जाए तो इससे पिम्पल्स और दाग-धब्बे पर तुंरत असर पड़ता है और ये गायब हो जाते हैं.

Source: www.newstrend.news

ये चूर्ण बुढ़ापा रखेगा दूर, सिर्फ 20 रूपए में बना सकते हैं अपने घर पर !

0

हमारे बुजुर्गों का मानना होता है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है। ऐसे में हर एक व्यक्ति अपने शरीर को हमेशा स्वस्थ रखने की हर संभव कोशिश किया करता हैं।

इसलिए तो कहा गया है कि अगर व्‍यक्ति का शरीर पूर्ण रुप से स्वस्थ रहेगा तो वो औरों के मुकाबले ज्यादा खुश और धनी रह सकता है लेकिन वहीं अगर व्‍यक्ति के शरीर थोड़ा भी समस्‍या रहेगी तो ऐसे में आपको अस्वस्थ शरीर की वजह से परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। हमारी सेहत का सबसे बड़ा शत्रु चिंता होती है जो कि अच्छे भले इंसान को बूढ़ा बना देती है।

आपको बता दें कि यदि आप समय से पहले बूढ़े नहीं होना चाहते हैं तो आप सबसे पहले ध्यान रखे कि घर की चिंता करना छोड़ दीजिए, बाहर धूमे फिरे, दोस्तों के साथ टाइम बिताए, अच्छा खाना खाए, बरपूर नींद ले। लेकिन इस बात को भी झूठलाया नहीं जा सकता है कि आजकल काम और पैसे कमाने के चक्‍कर में लोग अपने शरीर को भी भूल जाते हैं जी हां यही वजह है कि आए दिन उन्‍हें कई सारी समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है।

कई बार तो ऐसा भी होता है कि उनकी ये लापरवाही से उनके जानपर बन अाती है। जी हां और वो कब जिंदगी और मौत के मुंह में पहुंच जाते हैं उन्‍हे खुद भी इस बात का पता नहीं चल पाता है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताने जा रहे हैं जिसे अपनाने के बाद आप खुद को पहले से ज्‍यादाा स्वस्थ महसूस करेंगे।

जी हां सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि अगर आप हमेशा स्वस्थ और मजबूत रहना चाहते हैं तो इसे बड़े ही ध्‍यान से पढि़येगा क्‍योंकि आज हम आपको एक ऐसे चूर्ण के बारे में बताने वाले हैं जिसका सेवन करने से व्यक्ति स्वस्थ रहने के साथ-साथ हमेशा जवान भी रहता है।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

इसके लिए आपको कुछ सामग्री की आवश्यकता होगी तो आपको सबसे पहले इसके लिए सौ ग्राम आँवला, काला तिल और भृंगराज की जरूरत पड़ेगी।

इसके साथ ही साथ आप को उस चूर्ण को बनाने के लिए 400 ग्राम पिसी हुई मिश्री और सौ ग्राम गाय के घी के साथ 300 ग्राम शहद की भी जरूरत होगी। इसके बाद इन सभी चीजों को इकट्ठा कर लेना होगा और फिर आप सभी चूर्ण को एक साथ मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें। मिश्रण तैयार करने के बाद अंत में तैयार किए गए उस मिश्रण में गाय के घी और शहद के साथ साथ मिश्री को मिला लें।

वहीं इसके बाद सारी चीजों को मिलाने के बाद जब आपका चूर्ण पूरी तरह से तैयार हो जाए तो आप उसे किसी बर्तन में रख दें। इसके बाद इसका सेवन प्रतिदिन करें।
प्रतिदिन खाली पेट एक चम्मच इस चूर्ण का सेवन करने से आपको इसका फायदा कुछ दिनों में ही दिखने लगेगा। इतना ही नहीं इसके सेवन करने से आपके शरीर में नई ऊर्जा का संचार होगा। इसके साथ ही साथ आप पहले से ज्यादा जवान महसूस भी करेंगे।

दुनिया के सबसे ताकतवर लोग क्या खाते है ? जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

रोजाना खाली पेट खाएं ये तीन चीजें, आपका शरीर बहुत जल्दी फौलादी और ताकतवर हो जाएगा

0

बहुत से लोग शरीर से दुबले-पतले और कमजोर रह जाते है। ऐसे लोग शरीर की कमजोरी दूर करके शरीर का वजन बढ़ाने के लिए उपाय भी करते है। लेकिन कोई फायदा नहीं मिलता है। आज की पोस्ट में हम आपको शारीरिक कमजोरी खत्म करके शरीर का वजन तेजी से बढ़ाने के लिए कुछ आसान उपाय बताएंगे। आइए जानते है। अगर शरीर कमजोर और दुबला-पतला है तो खाएं ये 3 चीजें, नंबर 3 है सबसे सस्ता उपाय।

पहला :

शरीर से कमजोर और दुबले- पतले लोगों को रोजाना दूध और केले का सेवन करना चाहिए। और सुबह-शाम व्यायाम भी करना चाहिए। इसके अलावा शरीर को पर्याप्त आराम देना भी जरूरी है। और समय पर सोना और उठना बेहद जरूरी है।

दूसरा :

आपने शायद सुना भी होगा को चने में बादाम से भी ज्यादा पोष्टिक तत्व पाए जाते है। इसलिए आप रातभर के लिए 20 से 25 ग्राम की मात्रा में चने लेकर इनको पानी मे भिगोकर रख दीजिए और सुबह खाली पेट इनका सेवन करें। यह शरीर की सभी तरह को कमजोरियों को दूर कर आपको काफी ताकतवर बना देता है।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

तीसरा :

रोजाना सुबह खाली पेट लहसुन की कली खाने से कई रोगों की समस्या का समाधान होता है। लहसुन एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है। खाली पेट लहसुन खाने से शरीर की ताकत बढ़ती है।

दुनिया के सबसे ताकतवर लोग क्या खाते है ? जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

थायराइड की समस्या के लिए रामबाण दूध

0

थायराइड हमारी बॉडी में पाया जाने वाली एंडोक्राइन गाँठ होती है जो हमारे गले में पाए जाने वाले थाइरॉक्सिन हॉर्मोन को बनाने का काम करती है. और साथ ही हमारे शरीर की कार्यक्षमता पर बहुत असर डालती है. थाइरॉयड के मरीजों को नियमित रूप से दवाओं का सेवन करना पड़ता है और साथ ही अपने खान पान का भी बहुत ध्यान रखना पड़ता है. पर आज हम आपको कुछ ऐसे उपायों के बारे में बताने जा रहे है जिनके इस्तेमाल से आपका थाइराइड हमेशा कण्ट्रोल में रहेगा.

1-थाइरॉयड की समस्या में हल्दी दूध का सेवन बहुत फायदेमंद होता है. इसके सेवन से आपकी बॉडी में थाइराइड का लेवल हमेशा कण्ट्रोल में रहता है. इसके अलावा आप चाहे तो थाइराइड की समस्या से छुटकारा पाने के लिए हल्दी को भुनकर भी खा सकते है.

2-लौकी का जूस हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. थाइरॉयड की बीमारी में नियमित रूप से सुबह खाली पेट में लौकी का जूस पीने से थाइराइड कण्ट्रोल में रहता है.

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

3-तुलसी के इस्तेमाल से भी थाइराइड की समस्या को कण्ट्रोल में किया जा सकता है. इसके लिए थोड़े से तुलसी के पत्तो का रस निकालकर इसमें थोड़ा सा एलोवेरा जूस मिलाएं. नियमित रूप से इसके सेवन से थाइरॉयड की बीमारी धीरे-धीरे गायब होती दिखाई देगी.

4-काली मिर्च हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है. इसके इस्तेमाल से कई बीमारियों का इलाज किया जा सकता है. थाइराइड की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए थोड़ी सी काली मिर्च को पीसकर हलके गर्म पानी में मिलाकर सेवन करने से थाइराइड कण्ट्रोल में रहता है.

खून की कमी का घरेलू इलाज जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

सुबह नहाने के पानी में मिलाएं इसकी 5-6 बूंदें, पूरा शरीर हो सकता है गोरा

0
greenenergyofsanantonio.com

अगर आपको पूरी तरह से गोरा बनना है, चेहरे के साथ-साथ हाथ, पांव, गर्दन, पेट, सभी हिस्सों की त्वचा का रंग हल्का करना है तो आपको रोजाना सुबह नहाते समय नहाने के पानी में एक चीज मिलाकर नहाना चाहिए।

देखा जाये तो किसी भी इंसान का पूरा शरीर और उसके शरीर के भाग उसकी सुन्दरता के बारे में बहुत कुछ बताते हैं कि वो कितना खूबसूरत है| कोई देखने में बहुत खूबसूरत होता है तो कोई थोरा कम लेकिन हर इंसान सोचता है की वो देखने में सबसे अच्छा लगे और इसके लिए वे  काफी सरे प्रयत्न भी करता है|हमारे शरीर के सभी हिस्सों में से हमारा चेहरा एक ऐसा ऐरिया है जिसे हम गोरा और चमकदार बनाने का प्रयत्न करते रहते हैं। खासतौर से महिलाएं अपने चेहरे को गोरा और बेदाग बनाने के लिए कई कॉस्मेटिक और घरेलू प्रयोग करती रहती हैं और कई बार वे इसमें सफल भी होती हैं।

इंसान के शरीर के सभी हिस्सों में हमारा चेहरा एक ऐसा हिस्सा होता है जिसे हम हमेशा सबसे खूबसूरत और चमकदार बनाने की सोचते हैं खासतौर पर महिलाएं सबसे ज्यादा अपने चेहरे को गोरा और बेदाग बनाने के लिए परेशां रहती है कभी घरेलू उपाय करती हैं तो कभी महंगे कॉस्मेटिक का प्रयोग करती हैं ताकि वे सबसे ज्यादा खूबसूरत दिख सकें|

काफी सरे उपायों का प्रयोग कर के महिलाएं अपने मकसद में सफल भी हो जाती हैं तो कई बार साइड इफ़ेक्ट का शिकार हो जाती है आमतौर पर महिलाएं ये ही सोचती हैं कि उनके शरीर के अन्य भाग चाहे इतने गोरे न दिखें लेकिन उनका चेहरा ज़रूर गोरा दिखना चाहिए और अपने चेहरे को गोरा करने के लिए ऐसा किया क्या जाये ये किसी को मालूम नहीं होता लेकिन आप को परेशां होने की जरूरत नही है ऐसे में अगर हम आपको एक ऐसा उपाय बताने जा रहे है जिसके मात्र 5 से 6 बूंदों से आपका चेहरा कुछ ही दिनों में काफी ज्यादा चमक उठेगा बल्कि आपका पूरा शारीर गोरा हो जायेगा|

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

आपको यह भी बता दें कि जो उपाय हम आपको बताने जा रहे हैं उसके प्रयोग से सिर्फ चेहरा नहीं बल्कि पूरे शरीर में किया जा सकता है जी हाँ दरअसल हमारे शरीर में जो भाग ढाका रहता है वो अन्य हिस्सों की तुलना में गोरा और बेदाग़ रहता है क्योंकि इन पर धूप और प्रदूषण का सीधा असर नहीं पड़ पाता लेकिन वहीँ हमारे हाथ, हाथ की बाजुएं, हमारा चेहरा, हमारी गर्दन पर धूप और प्रदूषण सीधा वार करते हैं इसकी वजह से हमारा शारीर काला सा पड़ जाता है|

अगर आप सुबह नहाते समय एक छोटा सा प्रयोग कर लें, तो आपका पूरा का पूरा शरीर गोरा हो सकता है। आपको केवल इतना करना है की नहाने के पानी में एक चीज मिलानी है और कुछ ही दिनों में आपको इसका असर भी देखने को मिलेगा अगर आपको इस बात से परेशानी है कि आपके हाथ और आपका चेहरा गोरा क्यों नहीं दिखता है तो आप केवल एक नुस्खा हर सुबह नहाते समय अपनाना होगा जिससे आपका पूरा शरीर गोरा हो जायेगा|

सबसे पहले आपको एक निम्बू लेना है और इसको अपने नहाने के पानी में 5 से 6 बूँदें डालना है जिसका रिजल्ट आप कुछ ही दिनों में देखेंगे| आपी जानकारी के लिए बता दे की दरअसल नींबू में एंटी एलर्जिक और टैनिंग को काटने के गुण रखता है|

विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन बी12, कैल्शियम की कमी को दूर करने का घरेलु उपाय जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

नसों की कमज़ोरी के कारण और इससे निजात पाने के आसन घरेलू उपाय

0

दोस्तों आज हम जानेंगे इन नसों की कमज़ोरी के कारण और इससे निजात पाने के आसन घरेलू उपायों की। दरसल शरीर का कोई भी हिस्सा जैसे पीठ, कमर, हाथ, गर्दन आदि की नस के दबने से होने वाला दर्द काफी तकलीफदेय होता है। इसकी वजह से हम कोई भी काम सही ढंग से नही कर पाते। नसें हमारे शरीर मे मौजूद भिन्न- भिन्न अंगों से होकर गुजरती है और जब कोई अंग कमज़ोर पड़ता है तो सबसे पहले वहां की नसों पर इफ़ेक्ट पड़ता है।

नसों के कमजोर होने के लक्षण

  • यदि आपके शरीर की नसें कमज़ोर हो गई हैं, तो इससे शरीर में होने वाले इफ़ेक्ट की पहचान करना जरूरी होता है जिससे सही इलाज करने में सहायता मिलती है।
  • यदि आपकी याददास्त घटने लगे तो समझ लीजिये की आपकी नसें कमजोर पड़ने लगी हैं।
  • चक्कर आना भी एक संकेत है कि आपकी नसें कमज़ोर है क्योंकि रक्त संचारित नही हो पा रहा।
  • रक्त जब शरीर में सही ढंग से नही सर्क्युलेट होता तो आंखों के आगे उठने-बैठने के समय अंधेरा छाने लगता है।
  • अपच होना भी एक संकेत है।
  • अनिन्द्रा भी दर्शाता है आपके नसों की कमज़ोरी।
  • हदय-स्पंदन
  • शरीर में खून की कमी होना।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

नसों की कमज़ोरी का इलाज

इनमें से कोई भी लक्षण जब शरीर में घटित होता है तो नसों में बहुत तेजी के साथ दर्द होने लगता है, जो परेशानी का सबब बन जाता है। तो अब जानते हैं  नसों के दर्द को दूर करने के कुछ आसान घरेलू इलाज जिसे आप ठीक से फॉलो करेंगे तो यकीनन फायदा होगा।

1. गाय का दूध

नसों की कमजोरी को दूर करने के लिए आप गाय के दूध के साथ मक्खन, मिश्री भी खा सकते है, जिससे काफी हद तक नसों की कमजोरी में आराम मिलता है।

2. किसमिस

किसमिस खाने की आदत डाल लें। यह शरीर में अन्य लाभ पहुंचाने के साथ ही नसों की कमजोरी का भी बेहतरीन इलाज  है। पर हाँ इसका इस्तेमाल आप सर्दियों के मौसम में ही करने की कोशिश करें।

3. सरसो का तेल

सरसों के तेल से नसों के दर्द से छुटकरा पाया जा सकता है। सरसों के तेल को गरम करके इससे मालिश करे। ऐसा करने से आपको निश्चित ही लाभ होगा।

4. लेवेंडर का फूल

लेवेंडर का फूल तथा सुइया को नहाने के पानी में मिला कर नहाएं ।

5. बेर की गुठलियां

नसों की कंजोरी को दूर करने के लिए आप बेर की गुठलियों को गुड़ के साथ खाएं जिससे की नसों में मज़बूती आएगी और शरीर बलवान बन जाता है।

6. पुदीने का तेल

यदि आपके नसों में बहुत दर्द होता है, तो दर्द से प्रभावित क्षेत्र में पुदीने के तेल से मालिश करें। इससे आपको नसों के दर्द से राहत मिलेगी।

7. आयुर्वेद का साथ

अश्वगन्धा 100 ग्राम, सतावर 100 ग्राम, बाहीपत्र 100 ग्राम, इसबगोल की भूसी 100 ग्राम, तालमिश्री 400 ग्राम इस सबका एक मिश्रण बना ले और उस मिश्रण को सुबह व शाम को दूध के साथ लें। लगभग एक महीने के प्रयोग से ही शरीर की रक्त क्षमता बढ़ जाती है। और नशों में ताक़त आजाती है ।

8. मसाज का सहारा

नस में होने वाले दर्द पर दबाव डालने से तनाव को मुक्त करने और दर्द कम करने में मदद मिल सकती है। पूरे शरीर की मालिश करने से सभी मांसपेशियों की शिथिलता को बढाने में और साथ ही प्रभावित हिस्से को आराम देने में हेल्प मिलती हैं।

9. व्यायाम

यदि आपकी नसों में बहुत दर्द होता है तो आपको नियमित व्यायाम करना चाहिए जिससे नसों को बहुत लाभ होता है और इसमें पड़ी हुई गांठ भी धीरे-धीरे ठीक हो जाती है।

10. भ्रस्तिका प्राणायाम

भ्रस्तिका प्राणायाम करने से भी नसों के रोगी को बहुत लाभ होता है। लाभ होता है इसलिए रोजाना यह प्राणायाम करें

11. अनुलोम विलोम

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से भी नसों में होने वाली दिक्कत को एक दम से दूर किया जा सकता है और बहुत दिनों तक करेंगे तो ये बीमारी जड़ से ख़त्म हो जाएगी।

नसों के ब्लॉकेज खोलने के सबसे आसान घरेलू उपाय

हमारे ब्लड सेर्कुलशन में कुछ प्रॉब्लम आ जाती है हमारी नसों में ब्लॉकेज आ जाते है जिससे हमारा शरीर बुरी तरह से प्रभावित होता है नसों में ब्लॉकेज होने पर हमे चलने में दिक्कत आना ,साँस फूलना चक्कर आना आदि समस्याए होने लग जातीहै।

लेकिन आज हम आपको नसों के ब्लॉकेज को खोने के कुछ घरेलू उपाय बताते है जिनसे आप इस बीमारी से जल्द ही राहत पा सकते है।

अगर नसों में ब्लॉकेज की समस्या है तो आप लहसुन का उपयोग खाने में कीजिये लहसुन खाने से नसों की चौड़ाई फ़ैल जाती है और ये नसों के ब्लॉकेज खोलने में भी सक्षम है इसका उपयोग इस तरह से करे लहसुन की कलियों को भुनले और पीसकर दूध में डाकर पीले आपको फायदा मिलेगा।

हल्दी का उपयोग करके भी आप नसों के ब्लॉकेज खोल सकते है क्योंकि हल्दी में करक्यूमिन एंटी-इंफ्लेमेटरी गन होते है जो ब्लड को थक्के के रूप में जमने से रोकता है इसको आप दूध  में डालकर और सहद मिलकर पिए आपकी ब्लॉक नसे खुल जाएगी।

अलसी भी नसों के ब्लॉकेज खोलने में सक्षम है इसमें अल्फा लिनोलेनिक एसिड भरपूर मात्रा में मौजूद होता हैजो बंद नसों को खोलने में मदद करता है और ये नसों में मौजूद कोलेस्ट्रॉल को भी आसानी से बाहर निकाल देता है जिससे हमारा ब्लड सर्कुलशन ढंग से काम करने लग जाता है इसके इस्तेमाल के लिए इसे रात भर भिगो दे और सुबह पीस कर काढ़ा बनाकर पीले ऐसा लगातार 3 महीने तक करने पर फायदा मिलता है।

ब्लॉकेज नसों को खोलने में अनार का सेवन भी बढ़िया रहता है रोज सुबह 3 से 4 अनार का सेवन करे।

विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन बी12, कैल्शियम की कमी को दूर करने का घरेलु उपाय जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

सिर्फ 1 बूंद – उम्र को 10 साल पीछे ले जाएगी, चरक संहिता में है लिखा

0

आज हम आपके लिए एक और औषधि के बारे में बताने जा रहे है, जिसका नाम है गेंदे का फूल. गेंदे को अंग्रेजी में “मैरी गोल्ड” फ्लावर के नाम से जाना जाता है. यह दुनिया की सर्वोत्तम औषधियों में गिना जाता है. गेंदे (कैलेंडुला) का फूल देखने में बहुत खूबसूरत लगता है तथा इसकी खुशबू भी बहुत अच्छी होती है। गेंदे के फूल को पूजा करते समय भगवान पर भी अर्पित किया जाता है।

इसके अलावा यह फूल औषधिक गुणों से भी भरपूर है। इसलिए इसे त्वचा के उपचार में उपयोग किया जाता है। गेंदे में कई प्रकार के तत्व जैसे कैरोटिनॉइड, ग्लाइकोसाइड, गंध तेल, फ्लावोनोइड्स (flavonoids) तथा स्टेरोल्स (sterols) होते हैं जो त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।

गेंदे को झेंडू भी खा जाता है. ये बहुत ही फायदेमंद औषधि है जिसे हम अपने घर में आसानी से लगा सकते है. अभी कुछ समय पहले आपको याद होगा हमारे देश के 680 जवान कारगिल के युद्ध में शहीद हुए थे. जिनमे से  1200-1300 सैनिको की गोली या बम लगने से काफी खतरनाक घाव बन गये थे. गोली और बम जैसे घावों को ठीक करने के लिए डॉक्टर लोग झेंडू (गेंदेका फुल) के तेल का रस इस्तेमाल करते है. अगर झेंडू के फूल के रस की चटनी बना कर घाव पर लगा दी जाये तो इससे भी आपके हर तरह के जख्म ठीक हो जायेंगे. ऐसे में कारगिल के वीर जवानों को झेंडू के फूल ने ही ठीक किया था. राजीव दीक्षित जी का मानना है कि हम सबको अपने घर में गेंदे के फूल लगाने चाहिए. जिससे हम किसी भी चोट का आसानी से इलाज घर में ही कर पाएं.
गेंदे को दुनिया का सबसे बड़ा एंटी सेप्टिक मन जाता है. अगर गेंदे के रस में एलोवेरा के रस को मिलाया जाये तो ये औषधि सोने पर सोहागे का काम करती है. इन दोनों के रस को अगर मिला कर हर तरह के गले सड़े अंगो को ठीक किया जा सकता है. इसलिए गेंदे के फूल को हमेशा घर में किसी गमले में लगा कर रखें. जो आपको हर प्रकार की चोट का आसान से आसान इलाज मिल पाये.

 

गेंदे के फुल के कुछ अन्य प्रभावशाली इलाज >>

गेंदे के फूल का उपयोग झुर्रियों के लिए – उम्र बढ़ने के साथ व्यक्ति की त्वचा की कोशिकाएं कमजोर होने लगती हैं तथा नई कोशिकाएं बहुत कम मात्रा में बनती हैं। इससे त्वचा लटकने लगती है। इसका सबसे पहले असर चेहरे की त्वचा पर दिखाई देता है। इसके तेल या क्रीम को झुर्रियों वाली त्वचा पर लगाने से झुर्रियां हट जाती हैं। गेंदे के फूलों में फायटोकॉन्सटीटूएंट्स (phytoconstituents) होता है जो एंटी एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करता है। गेंदा उत्तक के पुनः निर्माण में अच्छी भूमिका निभाता है, जिससे झुर्रियों से निजात मिल जाती है।

गेंदे के लाभ मुंहासों के लिए – आपकी त्वचा पर मृत कोशिकाओं के कारण त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते हैं और इसमें से निकलने वाला तेल धूल मिट्टी के साथ मिलकर चेहरे पर मुँहासे निकलने का कारण होता है। कई बार इन मुंहासों के कारण जलन और दर्द दोनों महसूस होते हैं। कैलेंडुला का तेल दाग धब्बे के उपचार में मदद करता है। इसमें एंटी फंगल के गुण होते हैं जो दाग धब्बे को हटाने में मदद करती है। चेहरे के मुँहासे पर कैलेंडुला का तेल युक्त क्रीम लगाने से मुँहासे दूर हो जाते हैं। यह त्वचा में कोलेजन (collagen) के स्तर को बढ़ाता है तथा दाग धब्बे दूर करता है।

गेंदे के फूल का उपयोग त्वचा के लिए – गेंदे के फूल से बने तेल से चेहरे पर मालिश करना त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है। यदि आप इसके तेल से नियमित रूप से अपने चेहरे पर मालिश करते हैं तो त्वचा में रक्त का संचार बढ़ता है और आपकी त्वचा का रंग निखरने लगेगी।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

कैलेंडुला फूल का उपयोग आँखों के लिए – गेंदे की चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants), लुटेइन ( lutein), जेक्सनथिन (zeaxanthin), ल्य्कोपेन (lycopene) आदि होते हैं जो नेत्र रोग और अंधापन को रोकने में मदद करती है। गेंदा आँखों के लिए एंटीसेप्टिक का काम करता है। इस के रस से लाल पीड़ादायक आँखों को धोने से आँखों में बहुत फायदा होता है।

गेंदा फूल के फायदे घाव भरने में – कैलेंडुला के तेल में एंटी सेप्टिक और एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं। जब हम घाव या जलें पर गेंदे के तेल का उपयोग करते हैं तो यह घाव को आसानी से भर देता है। कैलेंडुला के फूलों से बनी क्रीम को घाव या जले को ठीक करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। कैलेंडुला से बनी हुई क्रीम घाव को जल्दी भरने में मदद करती है। यदि आपको किसी कीड़े ने काट लिया है तो आप कैलेंडुला का तेल या क्रीम लगाएं यह आप को फायदा करेगा।

गेंदे के फूल के फायदे पाचन समस्या में – इसका सेवन करने से पाचन से जुड़ी कई बीमारियों से निजात मिलता है और यह पेट को काफ़ी फायदा पहुचाता है। कई बार खाने की अनियमितता और फास्ट फूड खाने से पेट में कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं। जिस के कारण व्यक्ति को परेशान होना पड़ता है। गेंदे के उपयोग से कब्ज की समस्या दूर होती है। जिगर और पित्ताशय डेटोक्सीफाय (detoxify) करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। यदि आपके पेट में दर्द है तो इसका सेवन करने से पेट के दर्द से राहत मिलती है। आपके पेट में एसिडिटी या अपच की समस्याएं होने पर इसका सेवन करें। इन समस्या में यह बहुत ही फायदेमंद होता है। यह चयापचय क्रिया के द्वारा शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकल देता है।

गेंदे के अन्य गुण – इसके रस को कानों में डालने से कान का दर्द दूर हो जाता है। गेंदे के फूल को मिश्री के साथ खाने से दमा,खाँसी की समस्या दूर होती है। यदि शरीर के किसी हिस्से में सूजन आ गई हो तो इसकी पंखुड़ियों को पीस कर सूजन पर लगाने से सूजन खत्म हो जाती है।

कैंसर का आयुर्वेदिक उपचार जानने के लिए पूरी वीडियो देखे और अगर आपको हमारी जानकारी फायदेमंद लगे तो हमारा Youtube Channel Subscribe कीजिये..और घंटी बजाना ना भूलियेगा ताकि आपको मिल सके हमारे नए वीडियो सबसे पहले…

Source: www.rajivdixitji.com

error: Content is protected !!