खून साफ करने और शरीर में भरी-पड़ी गंदगी बाहर निकालने का रामबाण घरेलु उपाय

0

रक्त या खून शरीर के करोड़ों सेल्स को ऑक्सीजन मिनरल्स और अन्य पोषक तत्व पहुँचाने का काम करता है और यही सेल्स हमारे स्वस्थ शरीर का निर्माण करते हैं। हमारे गलत खानपान से अधिक अम्लीय पदार्थ और नमक के सेवन से ये धीरे धीरे दूषित होता रहता है शरीर से विजातीय पदार्थ जैसे मल मूत्र आदि अगर सही से ना निकले तो भी ये गंदगी शरीर के रक्त में घुल जाती है। जिस कारण से अनेक रोग उत्पन्न हो जाते हैं जिनमे चर्म रोग विशेष हैं इसलिए स्वस्थ और सुन्दर शरीर की कामना रखने वालों को अपने रक्त की शुद्धि पर विशेष ध्यान देना चाहिए। खून को प्राकृतिक तरीके से साफ़ करने और शरीर के अंदर की गंदगी को बाहर निकालने के लिए इन आहारो को अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें।

रक्त या खून साफ करने के प्राकृतिक तरीके

  1. आंवला रक्त में बढ़ी हुई गर्मी को कम करता है रक्त में जमा मल विष को दूर कर रक्त शुद्ध करता है मांस में गर्मी बढ़ा कर मांस के मल को जलाता है। पेशी कोषों को शुध्द करता है। आंवला हर प्रकार शरीर की हर चीज़ की सफाई करता है। चर्म रोगों में लाभदायक है यह विटामिन सी का भण्डार है और नया रक्त बनाता है और शरीर की गंदगी बाहर निकल जाती है।
  2. लाल टमाटर का रस सुबह शाम एक एक गिलास पीने से खून साफ़ होता है चर्म पर होने वाली छोटी छोटी फुंसियां खुजली त्वचा का रूखापन सूखापन तथा लाल चकते दूर हो जाते हैं।
  3. बेल का चूर्ण और देशी बूरा सामन मात्रा में मिला कर पानी से फँकी ले खून साफ़ हो जायेगा।
  4. कच्चे दूध की लस्सी पीने से रक्त शुद्ध रहता है चार दिन दूध में शहद डालकर पीएँ।
  5. नीम्बू रक्त को शुद्ध करता है नीम्बू को फीके गरम पानी में दिन में तीन बार पीना चाहिए। पानी, चाय की तरह गर्म होना चाहिए।
  6. 25 ग्राम मुनक्के रात को पानी में भिगों दें इन्हे प्रात: पीसकर एक कप पानी में घोलकर प्रतिदिन पीते रहने से शरीर की गंदगी बाहर निकल जाती है और खून साफ़ होता है।
  7. 60 ग्राम करेले का रस एक कप पानी में मिलाकर नित्य कुछ दिन तक सेवन करने से शरीर का दूषित खून साफ़ हो जाता है।
  8. गाजर नारंगी अमरुद गन्ना बेर परवल पालक सेम यह खून शुध्द करती है इन चीजों को अपने भोजन में ज़रूर शामिल करें।
  9. आधा चम्मच हल्दी, एक चम्मच पिसा हुआ आंवला मिला कर गर्म पानी से फंकी लेने से खून साफ़ होता है।
  10. नीम की पाकी हुयी दस निम्बोली नित्य चूसने से रक्तविकार ठीक हो जाता है।
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply