बस 1 दिन में जोड़ों और घुटनों के दर्द से छुटकारा

0

बहुत सारे लोगों को जोड़ों और घुटनों के दर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है | बढती उम्र के साथ ये समस्या और भी गंभीर हो जाती है |

अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहें हैं और इलाज करवा कर थक चुके हैं तो घबराइए मत ऐसी बहुत सी प्राकृतिक औषधियां मौजूद हैं जो आप को इस समस्या से निजात दिला सकती हैं |

joints-or-knees-pain-home-remedy-in-hindi

आज जो नुस्खा हम आप के लिए ले कर आये हैं वो अद्भुत चिकित्सीय गुणों से भरपूर है | इस में ऐसे anti-inflammatory तत्व मौजूद हैं जिन में मैग्नीशियम, सिलिकॉन, विटामिन सी और bromelain भरपूर मात्रा में होते हैं जो आप के स्नायुबंधन (ligaments) और tendons मजबूत बनाते हैं |

घुटने और जोड़ों के दर्द से राहत के लिए नुस्खा-

सामग्री

  1. संतरे का रस एक कप (a cup of orange juice (100% natural)
  2. पानी एक कप (a cup of water)
  3. दालचीनी की एक स्टिक (1 cinnamon)
  4. कटा हुआ अनानास 2 कप (2 cups of diced pineapple)
  5. शहद स्वाद अनुसार (raw organic honey (to taste)
  6. आधा कप कूटे हुए बादाम (½ cup of crushed almonds)
  7. जौ का दलिया एक कप (a cup of rolled oats)

तैयार करने की विधि

  • एक बर्तन में जौ का दलिया और पानी मिलाएं और कुछ मिनटों के लिए आग पर पकाएं | जब ये पक जाये तो इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर सारी सामग्री एक ब्लैंडर में डाल कर अच्छी तरह से मिक्स कर लें | थोडा हल्का करने के लिए और पानी भी मिला सकते है |
  • इस मिश्रण को हर रोज इस्तेमाल करें । दर्द गायब हो जाएगा और आपके जोड़, tendons, स्नायुबंधन (ligaments) और मजबूत हो जायेंगे।
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply