कभी नहीं होगा हार्ट अटैक न बढेगा बी पी और न होगा बैड कोलेस्ट्रॉल, सिर्फ ये आदत डाले

0

अगर आप सिर्फ एक आदत अपनी दिनचर्या में शामिल कर लेंगे तो आपको जिंदगी भर कभी हार्ट अटैक नहीं आएगा.इस आदत में सिर्फ ये है के आप हर रोज़ कम से कम 500 से 1000 mg Vitamin सी का सेवन करना है, इसके लिए हमारे बुज़ुर्ग कहते थे के आंवला ज़रूर खाओ, हर रोज़ जो व्यक्ति 1 से ३ आंवले खाता है वो कभी बीमार नहीं पड़ता, कभी उसको हार्ट की समस्या नहीं आती, आंवला इतना मशहूर था के इसको आज भी जो च्यवनप्राश बनता है उसका बेस इसी को रखा जाता है. जो व्यक्ति हर रोज़ 1000 mg. Vitamin C का सेवन करता है, उसको हार्ट, बी पी, कोलेस्ट्रॉल, स्ट्रोक जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता. और ये प्रयोग उन रोगियों के लिए सबसे बेहतर है जिनको Angioplasty की सलाह दी गयी है.

अभी जानिए Vitamin C के प्राकृतिक सोर्स.

खट्टे रसदार फल जैसे आंवला, नारंगी, नींबू, संतरा, अंगूर, टमाटर, आदि एवं अमरूद, सेब, केला, बेर, बिल्व, कटहल, शलगम, पुदीना, मूली के पत्ते, मुनक्का, दूध, चुकंदर, चौलाई, बंदगोभी, हरा धनिया और पालक विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं। इसके अलावा दालें भी विटामिन सी का स्रोत होती हैं। असल में सूखी अवस्था में दालों में विटामिन सी नहीं होता लेकिन भीगने के बाद ये अच्छी मात्रा में प्रकट हो जाता है।

heart blockage treatment without surgery

अगर ये सभी ना खा सके तो बाज़ार में मेडिकल स्टोर में Vitamin C की टेबलेट भी आती है 500 mg की, उसको दिन में 3 से 4 बार खाएं. और हाँ आंवला जब मौसम में आये तो आंवले को किसी भी प्रकार से खाएं. और जिन लोगों को लगता है के आंवला या खट्टा खाकर उनका यूरिक बढ़ जायेगा तो वो गलत सोच रहें हैं, इस से उनका यूरिक एसिड सही हो जायेगा.

निम्बू से यूरिक एसिड का इलाज

इस प्रयोग के साथ में एक चीज आपको  एक चीज जो आपको करनी है वो ये के आपको चाय को बिलकुल बंद करना होगा, इसकी जगह आप अपने बच्चो को सुबह उठ कर निम्बू पानी पिलायें इसमें 2 चुटकी मीठा सोडा मिला कर. आप देखेंगे के आपकी ऐसी समस्याएँ जो लाख दवा लेकर भी नहीं जा रही थी, वो अपने आप सही हो गयी. क्यूंकि इस से आपका पुरा शरीर एल्कलाइन हो जायेगा आपका PH बिलकुल सही हो जायेगा.

SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply