हिलते दांतों लिए 13 घरेलू उपचार

0

कई बार दांतों में इस तरह दर्द होता है कि आपको लगता है कि आपका दांत हिलने लगा है या उसमें टीसन मच रही है। दांतों में इस तरह की समस्‍या आपके दांतों के निचले टिश्‍यू का ढीला पड़ जाने के कारण होती है। मेडिकल में इस समस्‍या को पेरियोडोंटम कहते हैं। अच्‍छी बात यह है कि इस समस्‍या के कई घरेलू उपचार होते हैं जिन्‍हे अपनाकर आप इससे मुक्ति पा सकते हैं।

लक्षण: अगर आपको दांतों में भोजन करने के दौरान दर्द होता है और छूने पर ऐसा लगता है कि आपका दांत हिल रहा है तो समझ लीजिए कि आपको पेरियोडोंटम हो गया है। घबराएं नहीं बल्कि इन घरेलू उपचारों को अपनाएं। अगर इसके बाद भी आराम न मिलें या दर्द लगातार बढ़ता ही जाएं, तो तुरंत ही डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें।

1. उचित तरीके से मुंह की सफाई करें
अगर आपको ये समस्या हो गई है तो अपने मुंह की प्रॉपर सफाई रखें। नियमित रूप से सुबह और रात के खाने के बाद ब्रश करें। हर बार भोजन के पश्चात भी कुल्ला करें।
2. नमक और सरसों का तेल
हर दिन सुबह उठकर नमक और सरसों का तेल मिलाकर इससे दांत साफ करें और दर्द वाली जगह पर लगाएं। लगाने के बाद हल्के हाथों से मसाज करें। इससे शर्तिया आराम मिलता है।
3. काली मिर्च और हल्दी
इन दोनों मसालों के कॉम्बीनेशन से दांतों की जड़े मजबूत हो जाती है। इसके लिए आपको काली मिर्च और हल्दी का गाढ़ा सा पेस्ट बनाना होगा, इसके हिलते दांत वाली जगह पर 30 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें। इससे आपके दांतों का दर्द भी दूर हो जाएगा और दांत हिलना भी बंद हो जाएग। पर आपको एक हफ्ते तक इसे करना होगा।
4. आवंला
आवंला में विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है। विटामिन सी से दांतों की पकड़ और मजबूत हो जाती है। हिलते दांत में आवंला जूस काफी आराम देता है। आप चाहें तो इससे कुल्ला कर लें या पी लें।
5. औरेंगो ऑयल या आजवाइन की पत्ती का तेल
आजवाइन की पत्ती का तेल, हिलते दांत में काफी फायदेमंद होता है। इसे दांतों पर लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें। इससे दांतों को गर्मी मिलती है और हिलते दांत में राहत हो जाती है।
6. नमक का इस्तेमाल
एक गिलास पानी में नमक डालें और अपने मुंह में उस पानी को भर लें। इससे दांतों के सारे जर्म मर जाएंगे और आपका मुंह एकदम साफ हो जाएगा। चूंकि नमक में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं तो मुंह में किसी भी प्रकार का संक्रमण होने पर भी राहत मिल जाएगी।
7. लिक्विड डाइट लें
अगर आपको दांतों में ये समस्या है तो बेहतर होगा कि कुछ भी दांतों से चबाने वाला न खाएं। इससे दांतों पर जोर पड़ेगा और हो सकता है कि वह टूट भी जाएं। इसलिए, दांतों के हिलने तक लिक्विड डाइट लें।
8. पिपरमेंट ऑयल का इस्तेमाल
पिपरमेंट ऑयल में काफी गुण होते हैं जिनकी वजह से दांतों में दर्द से तो आराम मिलता ही है, इसके साथ-साथ दांतों के हिलने की समस्या भी दूर हो जाती है। ऑयल को उंगली में लगाकर हिलते दांत पर अच्छे से लगा लें और मसाज करें। आपको दो दिन में ही आराम मिल जाएगा।
9. हरी पत्तेदार सब्जियां
हिलते दांतों में हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत फायदा करती हैं। इनके सेवन से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है और दांतों का संक्रमण कम होकर खत्म ही हो जाता है। इसलिए, हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।
10. एसिटिक फ्रूट का सेवन का न करें
जिन फलों के सेवन से शरीर में एसिड ज्यादा मात्रा में बनता है उनका सेवन न ही करें तो बेहतर होगा। एसिड बनाने वाले फल, दांतों की सेंसिटिविटी में इजाफा कर देते हैं।
11. दांतों को सफेद करने का प्रयास न करें
कई लोग दांतों को सफेद करने वाली किट का इस्तेमाल करते हैं। अगर आपके दांतों में पेरियोडेंटम की समस्या है तो इसका इस्तेमाल कतई न करें।
12. प्रोबॉयोटिक्स रखना
अगर दांतों में ढीलापन महसूस होता है तो प्रोबॉयोटिक्स से राहत मिल सकती है। इससे संक्रमण खत्म हो जाता है। इसे पाने के लिए आपको दही का सेवन करना चाहिए।
13. लौंग तेल का उपयोग
अगर दांत ज्यादा हिलते हैं तो लौंग तेल को हिलते दांत पर लगाएं और मसाज करें। या रात को लगाकर छोड़ दें। इससे काफी राहत मिलती है।

SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply