जानिए ऐसे हर्ब्स जो कैंसर को रोकने में मदद करते है

0
how-to-increase-hemoglobin

भारत में कैंसर के रोगी लगातार बढ़ रहे हैं| सेल्स के अनियंत्रित वृद्धि के कारण कैंसर होता हैं।

यह बात को शायद हम सभी जानते हैं कि हर्ब्‍स की चुटकी डालने मात्र से ही साधारण पकवान भी जादूई हो जाता है। लेकिन हम इस बात से अनजान हैं कि यह हर्ब्स कैंसर को रोकने में भी मददगार होते है। वैज्ञानिकों ने पाया कि बहुत से खाद्य पदार्थों में मौजूद जड़ी बूटियों और मसालों में फाइटो‍केमिकल्स होते हैं, जो हमारे शरीर को जैविक रूप से प्रभावित करता है। यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को सही रखने में मदद करते हैं और इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स कैंसर को दूर करने में मदद करते हैं। यहां पर ऐसे ही हर्ब्स के बारे में जानकारी दी गई है।

गेहूं का ज्वारा

गेहूं के ज्वारे में सुपाच्य, पौष्टिक और संपूर्ण आहार है। इसमें भरपूर क्लोरोफिल, एंजाइम, अमिनो एसिड, शर्करा, वसा, विटामिन और खनिज होते हैं। कैंसर जैसे घातक रोगों पर विजय पाने में गेहूं के ज्वारे का रस बहुत फायदेमंद होता है। यह कैंसर युक्त सेल्स को कम करने में भी सहायता करता हैं। साथ ही यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शारीरिक क्षमता को बढ़ाता है। और शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है।

wheat-grass-benefits

लहसुन

कैंसर को एक लाइलाज बीमारी माना जाता है। लेकिन आयुर्वेद के अनुसार रोजाना थोड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन करने से कैंसर होने की संभावना लगभग 80 प्रतिशत कम हो जाती है। कैंसर के प्रति शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। लहसुन में मौजूद कैंसर विरोधी तत्व शरीर में कैंसर बढऩे से रोकते है। लहसुन में मौजूद अलिसिन नामक रसायन फेफड़ों के कैंसर से बचाव में मददगार है।

garlic-health-benefits

अदरक

कैंसर के लिए अदरक बहुत फायदेमंद है। यह कैंसर के मरीजों के लिए अचूक औषधि की तरह काम करता है। अदरक कोलेस्ट्राल का स्तर कम करता है। यह खून का थक्का जमने से रोकता है, इसमें एंटी फंगल और कैंसर के प्रति प्रतिरोधी होने के गुण भी पाए जाते हैं।

ginger-benefits-in-cancer

गिलोय

गिलोय एक बहुत ही उपयोगी आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। इसकी पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फॉस्फोरस और तने में स्टार्च पाया जाता है। वायरस की दुश्मन गिलोय रोग संक्रमण रोकने में सक्षम होती है। यह एक श्रेष्ठ एंटीबयोटिक है। गिलोय की जड़ों में मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट कैंसर की रोकथाम और उपचार में प्रयोग किया जाता है।

giloy-in-cancer

हल्दी

सदियों से हल्दी भारतीय मसालों का अभिन्न अंग रहा है। हल्दी का उपयोग विभिन्न रोगों के उपचार में प्राचीन काल से ही किया जाता रहा है। हल्दी को बहुत अच्छा रोगाणुनाशक माना जाता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि प्रतिदिन हल्दी का सेवन करने से कैंसर जैसे असाध्य रोगों को भी दूर भगाया जा सकता है। हल्दी में कैंसररोधी गुण होते हैं और यह शरीर को कैंसर से बचाती है। शोधकर्ताओं के अनुसार, हल्दी में पाया जाने वाला कुर्कुमिन नामक तत्व कैंसर को समाप्त करने में मदद करता है।

turmeric-benefits-in-cancer

एलोवेरा

एलोवेरा के पौधे में वो सारे गुण समाहित है जिससे इसे आप संजीवनी बूटी कह सकते है। एलोवेरा में अमिनो एसिड और 12 तरह के विटामिन मौजूद होते हैं, जो खून की कमी को दूर कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाते हैं। कब्ज से लेकर कैंसर तक के मरीजों के लिए एक अत्यंत लाभकारी औषधि है। एलोवेरा बढि़या एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक के रूप में काम करता है। एलोवेरा एक ऐसा पौधा है जिसमें अन्य सभी जड़ी-बूटियों के मुकाबले अधिक गुण होती है। यानी व्यक्ति को फिट रखने में एलोवेरा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं।

Aloe-vera-benefits-in-cancer

आंवला

आंवला में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होता है। जो कार्सिनोजेनिक कोशिकाओं को बढ़ने से रोकते हैं और कैंसर से बचाव करते हैं। आंवला विटामिन सी का बहुत अच्‍छा स्रोत है। एक आंवले में लगभग 3 संतरों के बराबर विटामिन सी होता है। आंवला खाने से लीवर को शक्ति मिलती है जिससे लीवर शरीर से टॉक्सिन्‍स को बाहर निकालता है।

amla-benefits-in-cancer

ग्रीन टी

ग्रीन टी के नियमित सेवन से न सिर्फ वजन नियंत्रित होता है, बल्कि उनमें कई तरह की बीमारियों के होने की संभावना भी कम हो जाती है। इसके सेवन से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से भी बचा जा सकता है। कई रोगों के प्रति शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है। ग्रीन टी एंटी-एजिंग के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट का काम भी करती है।

green-tea-in-cancer

लाल शिमला मिर्च

लाल शिमला मिर्च कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद कैप्सासिन तत्व की मौजूदगी के कारण लाल शिमला मिर्च शरीर, फेफड़े और अग्न्याशय में मौजूद कैंसर कोशिकाओं को मारता है। इस के अलावा लाल मिर्च में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट कैंसररोधी कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है।

 

काली मिर्च

हाल ही में कैंसर पर हुए शोध से यह बात सामने आई कि महिलाओं के लिए कालीमिर्च का सेवन बहुत लाभकारी होता है। काली मिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, फ्लैवोनॉयड्स, कारोटेन्स और अन्य एंटी-ऑक्सीडेंट आदि जैसे तत्व पाए जाते है। जो कैंसर को दूर करने में आपकी मदद करते हैं। कालीमिर्च ब्रेस्ट कैंसर को रोकने के साथ-साथ त्वचा के कैंसर से शरीर की रक्षा करता है।

Kali-Mirch-for-cancer

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply