एड़ी में दर्द हो तो करें ये 8 उपाय, तुरंत फायदा होगा

0

पुरूष हो या महिलाएं एडियों का दर्द किसी को भी हो सकता है। एड़ी मे दर्द होना आजकल एक आम समस्या बन गई है। यह एक तरह का रोग है जिसमें बेहद दर्द और परेशानी होती है। इस दर्द की वजह से शरीर में और भी कई तरह की बीमारिया जैसे कमर दर्द और स्लिप डिस्क जैसी समस्याएं हो सकती हैं। एड़ी में दर्द की प्रमुख वजह हैं अधिक उंचे जूते व सैंडल को पहनना आदि। हड्डी के बढ़ने से भी एड़ीयों में दर्द हो सकता है। इस लेख के जरिये हम आपको बताएंगे कि कैसे इस दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।

एड़ी दर्द के मुख्य कारण

  • हड्डी का बढ़ना
  • अधिक समय तक खड़े रहकर काम करना।
  • पोषक तत्वों को न खाना।
  • ज्यादा टाइट या कसक वाले कपड़े पहनना।
  • गिर जाने की वजह से।
  • पैर का अचानक से मुड़ना।
  • मधुमेह व मोटापा
  • अधिक नींद की गोलियां खाना।
  • उंचे जूते व सेण्डल पहनना।
  • अधिक सोना व खाना ।
  • कंकर व पत्थर का लगना।
  • उम्र के साथ मांस का कम होना।
  • कमर व पैरों के साथ पेट को किसी भी तरह का तनाव न देना आदि।
  • हार्मोन से संबंधित दवाइयां अधिक लेना।

एड़ी के दर्द से निजात पाने के आयुर्वेदिक उपाय

जितना हो सके आप आरामदायक जूते व चप्पल पहनें। स्पोर्टस जूते भी आप पहन सकते हो।

लेप का प्रयोग

यदि दर्द की वजह से चलना फिरना बंद हो गया हो तो सरसों के तेल में हल्दी को पकाकर उसमें नींबू, प्याज और नमक डालकर पेस्ट बनाएं और रात को सोने से पहले इसे एड़ियों पर लगाएं।

अश्वगंधा का प्रयोग

एड़ी के दर्द से छुटकारा पाने के लिए 1 चम्मच दूध के साथ 1 चम्मच अश्वगंधा का चूर्ण मिलाकर सेवन करें।

कलौंजी, अजवायन, मेथी और ईसबगोल

एक चम्मच कलौंजी, एक चम्मच मेथी, एक चम्मच ईसबगोल और एक चम्मच अजवायन को पीस कर चूर्ण बना लें और सुबह एक चम्मच खाली पेट इसका सेवन करें। कुछ दिनों तक इस उपाय को करने से फायदा मिलता है।

ठंडा व गर्म पानी

एड़ी के दर्द में आप अपने सिर को गीला करें और किसी स्टूल पर बैठकर ठंडे व गर्म पानी में पैरों को बदल-बदल कर रखें। ठंडे पानी में तीन मिनट और गर्म पानी में 5 मिनट तक पैरों को रखें।

एलोवेरा

ऐलोवरा को छीलकर इसका 50 ग्राम भाग खाली पेट खाएं।

अदरक और पोदीना का प्रयोग

एड़ियों के दर्द से मुक्ति पाने के लिए अपने भोजन में अदरक का इस्तेमाल अधिक से अधिक करें। पिण्ड खजूर को पोदीना के साथ मिलाकर चटनी बनाकर सेवन करें।

भोजन में इन चीजों को शामिल करें

अपने भोजन में आंवला, सेब, टमाटर, पत्तागोभी, कच्चा पपीता, आलू, ककड़ी और तोरई को शामिल करें। इसके साथ आप गुग्गुल का भी इस्तेमाल कर सकते हो।

एलोवेरा, अदरक और काला तिल

एलोवेरा, अदरक और काला तिल को मिलाकर गर्म करे और इसको एड़ी पर लगाए।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply