हनुमान जी के इस मंदिर में आते ही जुड़ जाती हैं टूटी हुई हड्डियां, जरूर पढ़े

0

चैत्र महीने में पड़ने वाली पूर्णिमा को पूरे देश में धूम-धाम से हनुमान जयंती मनाई जाती है। इस बार हनुमान जयंती 11 अप्रैल को मनाई जाएगी। भारत में हनुमान जी के बहुत सारे मंदिर हैं, लेकिन देश में एक ऐसा भी हनुमान मंदिर है, जहां जाने वालों की टूटी-फूटी हड्डियां जुड़ जाती हैं। आपको बता दें यह हनुमान मंदिर कटनी से 35 किलोमीटर दूर मोहास गांव में स्थित है। इस मंदिर में दर्शन करने के लिए लोग दर्द से कराहते हुए आते हैं, लेकिन जाते वक्त उनके चेहरे पर मुस्कान होती है।

- hanuman mandir mohas rahasya - हनुमान जी के इस मंदिर में आते ही जुड़ जाती हैं टूटी हुई हड्डियां, जरूर पढ़े

मंगलवार और शनिवार को जुटती है ज्यादा भीड़

ऐसा कहा जाता है कि जो भी इस मंदिर में दर्शन करता है उसकी टूटी हुई हड्डियां अपने आप जुड़ जाती हैं। इस मंदिर में किसी अस्पताल से भी ज्यादा भीड़ लगती है। हर मंगलवार और शनिवार को यहां भक्तों की भारी भीड़ जुटती है। इस मंदिर में हर रोज कुछ अलग ही देखने को मिलता है। किसी को स्ट्रेचर पर लाया जाता है तो किसी को एम्बुलेंस में। कोई-कोई तो पीठ पर लादकर भी लोगों को लाता है।

पीड़ितों को खिलाई जाती है कोई औषधि

यहां के हनुमान जी को हड्डी जोड़ने वाला हनुमान जी कहा जाता है। मंदिर परिसर में घुसते ही सभी को आंख बंद करके राम-नाम का जाप करने के लिए कहा जाता है। जब पीड़ित व्यक्ति आंख बंद करता है तभी वहां के साधू अपने सहयोगियों के साथ मिलकर सभी लोगों को कोई औषधि खिलाते हैं। यह पूरी तरह से प्राकृतिक औषधि होती है और पीड़ित को इसे चबाकर खाने की सलाह दी जाती है। औषधि खाने के बाद उन्हें घर जाने के लिया कहा जाता है और बताया जाता है कि औषधि के प्रभाव और हनुमान जी के आशीर्वाद से आपकी हड्डियां जुड़ जायेंगी।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply