जानिए गुलाब के फूल के औषधीय लाभ

0

गुलाब के फूल को भला कौन नहीं जानता हैं। फूलों का राजा माना जाने वाला गुलाब एक जाना पहचाना फूल है। यह फूल होने के साथ-साथ एक जड़ी बूटी भी है। गुलाब का हमारे जीवन में अपना ही महत्‍व है। सौंदर्य अपील और सुखदायक खुशबू के अलावा, गुलाब का फूल हमें कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता हैं।  स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है जो आपको गुलाब जल, गुलाब के फल और तेल से मिलती हैं।

त्वचा की देखभाल

त्वचा के लिए फायदेमंद विस्तृत श्रृंखला उपलब्ध कराने के कारण गुलाब जल त्‍वचा की देखभाल के लिए बहुत लोकप्रिय है। गुलाब जल के इस्‍तेमाल का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक सर्वश्रेष्‍ठ टोनर भी है। गुलाब जल में प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट होने के यह एक सर्वश्रेष्‍ठ टोनर भी है। रोज रात को इसे चेहरे पर लगाने से त्‍वचा टाइट होती। यह त्वचा के पीएच संतुलन को बनाएं रखता है, मुंहासों को दूर करने में मदद करता है और बैक्टीरिया के संक्रमण से त्वचा की रक्षा करता है।

बालों की देखभाल

गुलाब जल का एक और आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ है इसमें बालों की देखभाल के प्रभावी गुण होते है। बालों की जड़ों में ब्‍लड के सर्कुलेशन में सुधार करता है जिससे बालों के स्‍वस्‍थ विकास में मदद मिलती है। इसके अलावा यह बालों को मजबूत और लचीला बनाने के लिए एक प्रभावी और प्राकृतिक कंडीशनर भी है।

एंटीडेप्रेसेंट

हालांकि गुलाब आपके चेहरे पर एक प्‍यारी से मुस्‍कान ला सकता है, लेकिन इसका तेल भी कम नहीं है। इसका तेल आत्मविश्वास और मानसिक शक्ति बढ़ा सकता हैं। गुलाब का तेल अवसाद और चिंता से लड़ने में मदद करता हैं। यह गुलाब का तेल अवसाद को कम करने के लिए एक कारगर उपाय के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है क्‍योंकि यह सकारात्‍मक विचारों और भावनाओं को आह्वान करता है।

हर्बल चाय

गुलाब जल का इस्‍तेमाल एक हर्बल चाय के रूप में किया जाता है। यह पेट के रोगों और मूत्राशय में होने वाले संक्रमण को दूर करने के काम आती है। हर्बल गुलाब जल चाय एक शांत प्रभाव प्रदान करती है। इस सुखदायक चाय को घूंट आप कभी भी भर सकते हैं यह आपको आराम महसूस कराने में मदद करेगी।

एंटीसेप्टिक

घावों के इलाज के लिए गुलाब का तेल बहुत अच्‍छा उपाय है। गुलाब के तेल में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण घावों को भरता है और इसकी खुशबू से आपको रिलैक्‍स महसूस होता है। घाव पर गुलाब के तेल के इस्‍तेमाल से सेप्टिक बनने और संक्रमण के विकास से बचाने में मदद मिलती है।

गुलाब का फल

गुलाब के फल विटामिन ए, बी 3, सी, डी और ई से भरपूर होता है। इसमें उच्‍च मात्रा में मौजूद विटामिन सी के कारण डायरिया के इलाज के लिए इसका इस्‍तेमाल किया जाता है। गुलाब के फल में फ्लवोनोइड्स, बायोफ्लवोनोइड्स, सिट्रिक एसिड, फ्रुक्टोज, मैलिक एसिड, टैनिन और जिंक भी होता है।

एंटी फ्लॉजिस्टिक (सूजन कम करने वाला)

बुखार आने से रोकना भी गुलाब के तेल का एक अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य लाभ है। इसमें मौजूद एंटी इंफ्मेंटेरी तत्‍व सूक्ष्म जीवाणु संक्रमण के कारण सूजन, रसायन, अपच और निर्जलीकरण को कम करने में मदद करता हैं।

अन्य फायदे

  • अस्थमा, डायरिया, कफ, हाई ब्लड प्रेशर, फिवर, पेट की गडबडी में गुलाब का सेवन बेहद उपयोगी होता है।
  • गुलाब में शरीर के विकास के लिए जरूरी विटामिन, अम्ल और रसायन है। गुलाब की पंखुडियों से गुलाब का शर्बत, इत्र, गुलाबजल और गुलकन्द बनाया जाता है। मुंह में छाले होने पर गुलाब के फूलों का काढा बनाकर कुल्ला करने से छाले दूर होते हैं। गुलकन्द खाने से पका हुआ मुंह और शारीरिक कमजोरी दूर होती है।
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply