विटामिन बी3 के नियमित सेवन से स्किन कैंसर का खतरा कम होता है

0

त्वचा कैंसर सूर्य की हानिकारक किरणों के संपर्क में आने के कारण अधिक होता है। लेकिन अगर आप त्वचा कैंसर से बचना चाहते हैं तो विटामिन बी3 का अधिक मात्रा में सेवन कीजिए। विटामिन बी3 सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाव के लिए सनस्क्रीम से अधिक फायदेमंद है। कई शोधों में यह बात साबित हो चुकी है कि विटामिन बी3 के नियमित सेवन से स्किन कैंसर का खतरा एक चौथाई कम होता है। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए यह लेख पढ़ें।

आस्ट्रेलिया में हुए शोध के अनुसार

आस्ट्रेलिया के सिडनी विश्वविद्यालय द्वारा किये गये शोध की मानें तो विटामिन बी3 के नियमित सेवन से सामान्य स्किन कैंसर की संभावना एक चौथाई कम की  जा सकती है। इस शोध में यह बात भी साबित हुई कि मेवा, मांस और अनाज में पाया जाने वाला निकोटीनामाइड (विटामिन बी3) को यदि टैबलेट के रूप में या सनस्क्रीम में इस्तेमाल किया जाता है तो यह कोशिकाओं को सशक्त करके यूवी के प्रभावों से बचाता है और प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है।

जानिए कैसे बचाता है स्किन कैंसर से

विटामिन बी3 हानिकारक पराबैंगनी (यूवी) किरणों से लड़ने में अधिक सक्षम होता है। इन खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला विटामिन पराबैंगनी किरणों के कारण होने वाले त्वचा कैंसर को रोकने में सनस्क्रीम की तुलना में अधिक प्रभावी है। सूर्य की रोशनी में मौजूद पराबैंगनी विकिरण त्वचा के प्रतिरोधी तंत्र को प्रभावित करता है और इससे त्वचा कैंसर का जोखिम बढ़ता है। यूवीबी किरणों से त्वचा को बचाने में सनस्क्रीम प्रभावी पाये गये हैं लेकिन यूवीए के खिलाफ ये कम प्रभावी साबित हुए हैं।

वहीं निकोटीनामाइड या विटामिन बी3 यूवीए और यूवीबी दोनों से ही प्रतिरोधी तंत्र की सुरक्षा करके त्वचा की कोशिकाओं को बचाता है। परीक्षणों के अनुसार पानी में विलेय विटामिन बी3 टैबलेट और लोशन दोनों ही रूप में यूवीए और यूवीबी के खिलाफ कड़े आवरण का काम करता है।

vitamin-B3

विटामिन बी3 के स्रोत और उनकी उपयोगिता

मूंगफली, बादाम और मोटे अनाज में विटामिन बी3 पाया जाता है। यह पाचन-तंत्र, त्वचा और नर्व के लिए जरूरी है। वहीं, यह भोजन को एनर्जी में बदलता है। इसकी कमी से त्वचा में सूजन, पाचन-तंत्र संबंधी गड़बड़ियां और मानसिक विकास होने की आशंका बढ़ती है। इसका अधिक डोज लेने से लिवर को नुकसान पहुंचने, पेप्टिक अल्सर और त्वचा पर रैशेज आने जैसे लक्षण सामने आते हैं।

अगर आप धूप में अधिक देर तह रहते हैं तो त्वचा कैंसर की संभावना अधिक रहती है, ऐसे में सनस्क्रीम की बजाय विटामिन बी3 का सेवन अधिक मात्रा में करें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply