बुढ़ापे तक सुन्दर और जवान रहना है तो रोज सुबह खाए ये चीज

0

budhhape tak sundar jawan rahne ke liye khaye ye chij:- हर इंसान की हमेश सुन्दर और जवान रहने की ख्वाईश होती है, लेकिन ये बात भी सच है की बुढ़ापा तो हम सब को आना ही है और बुढ़ापा आने पर कई सारी बीमारी भी आजाती है और ऐसा लगता है की बस ज़िन्दगी ख़त्म हो गयी है।

बुढ़ापा आने पर इंसान का शरीर कमजोर हो जाता है और उसके शरीर में पहले जैसी ताकत नहीं रहती है। बुढ़ापा आने पर इंसान, लाचार हो जाता है और फिर से वो जवानी वाली ताकत पाना चाहता है, जिसके लिए वह कई सारी दवाइयों का भी इस्तेमाल करता है लेकिन फिर से वो ताकत नहीं पा सकता है, इसीलिए आज मै आपको एक ऐसी चीज़ बताने जा रहा हूँ जिसके सेवन से आप बुढ़ापा में भी जवानी जैसी ताकत पा सकते है।

आज मैं आपको जिस चीज़ के बारे में बताने जा रहा हूँ ये चीज़ बड़ी ही आसानी से और बहुत ही कम कीमत में मिल जाती है और इसका उपयोग करना भी काफी आसान है। इस चीज़ का नाम अजवाइन है। अजवाइन में कैल्शियम, पोटैशियम, आयोडीन, केरोटिन जैसे तत्व होते हैं जो हमें ताकत देने में काफी फायदेमंद होते है।

आइये जानते है अब इसका सेवन करने का तरीका.

अजवाइन को आप सोने से पहले और रात में भोजन के बाद खा लीजिये और याद रहे 10 ग्राम से ज़्यादा अजवाइन नहीं खानी है क्योंकि 10 ग्राम से ज्यादा अजवाइन खाने पर आपके शरीर पर बुरा सर पड़ सकता है इसीलिए सिर्फ 10 ग्राम ही अजवाइन खाये और 1 गिलास पानी पियें या फिर आप अजवाइन को पानी में मिला कर भी पि सकते है. अगर इसी तरह से आप अजवायन का सेवन करते हैं तो आपके बुढ़ापे में भी जवानी जैसी ताकत बनी रहेगी।

Source: www.m.dailyhunt.in

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply