आम खाने का सही समय और फायदे, जरूर पढ़े

0

आम फलों का राजा कहा जाता है। आम में सैच्युरेटेड फैट, कॉलेस्ट्रॉल और सोडियम की मात्रा काफी कम होती है। साथ ही यह आहार संबंधी फाइबर, विटामिन B-6, विटामिन A और विटामिन C का भी अच्छा स्रोत माना जाता है।

आम में पोटैशियम, मैग्निशियम और कॉपर जैसे मिनरल भी खूब होते हैं। लेकिन इसे खाते समय इस बात का ध्यान रखें कि आम की तासीर गर्म होती है, इसलिए आम के साथ दूध का इस्तेमाल करना चाहिए।

गर्मी के मौसम में आम बाजार में बड़ी संख्या में देखने को मिलते हैं। लेकिन कोशिश करें कि आप आम को मौसम के अनुसार खाएं।

पोटैशियम, मैग्निशियम और कॉपर जैसे तत्वों से भरपूर आम को भोजन से 1 घंटा पहले या बाद में इसका सेवन करें तो बेहतर होगा। इसकी तासीर गर्म होती है, जिसके कारण दूध मिलाकर इसका जूस बनाया जाता है और इस तरह से यह अधि‍क लाभदायक होता है, इसलिए इस फल को खाने का सही समय ध्यान में रखें।

शाम 6 बजे के बाद आपकी मेटाबॉलिक रेट घटने लगती है। इसीलिए आम जैसे फल जिनमें कैलोरी अधिक होती है इसीलिए शाम को आम नहीं खाना चाहिए।

आम को फलों का राजा ऐसे हीं नहीं कहा जाता है, यह अपने भीतर कई गुणों को समेटे हुए है. और इसके स्वाद के तो क्या कहने, खाने में तो यह लाजवाब होता है. ज्यादातर लोगों को आम पसंद होता है, बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जिन्हें आम पसंद नहीं होता है. आम में फाइबर, विटामिन B-6, विटामिन A और विटामिन C पाया जाता है.

आम त्वचा और बालों के लिए भी फायदेमंद है. भारत में आम की 1,000 से ज्यादा किस्में उगाई जाती है.
तो आइए जानते आम के क्या-क्या फायदे हैं और इसका क्या-क्या उपयोग है.

आम के फायदे और उपयोग

  • आम में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो हानिकारक तत्वों से शरीर की रक्षा करता है.
  • आम असमय झुर्रियों से भी हमें बचाता है.
  • आम में विटामिन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं.
  • एक सामान्य आम में उससे ज्यादा विटामिन होता है जितने विटामिन की हमें हर दिन जरूरत होती है.
  • आम में पोटैशियम, आयरन और निकोटिनिक एसिड होता है.
  • आम में विटामिन B-6 पाया जाता है, जो कि मस्तिष्क को चुस्त-दुरुस्त और फुर्तीला बनाता है.
  • आम में बीटा-केरोटीन और कार्टेन्वाइड उच्च मात्रा में पाया जाता है. बीटा-केरोटीन और कार्टेन्वाइड शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है.
  • एक Cup आम का जूस पीने से हमें एक दिन के लिए जरूरी विटामिन A का 25 प्रतिशत हिस्सा मिल जाता है. यह आंख की रोशनी को बेहतर बनाता है.
  • आम सर्वाइकल कैंसर के खतरे को कम करता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए आम फायदेमंद होता है.
  • आम ग्रंथि में होने वाले कैंसर से हमें बचाता है.
  • यह पेक्टिन ब्लड कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करता है.
  • आम खाना वजन बढ़ाने का सबसे आसान तरीका है. तो अगर आप अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो आम खाना शुरू कर दीजिये.
  • आम पाचन प्रक्रिया में सहायक होता है, यह अपच और एसीडीटी जैसी समस्याओं को दूर करता है. आम में पाए जाने वाले एंजाइम्स खाना पचाने में सहायता करते हैं.
  • जो लोग एनियामा से ग्रसत हैं, उनके लिए आम बहुत लाभदायक होता है. आम में प्रचूर मात्रा में आयरन पाया जाता है. नियमित और पर्याप्त रूप से आम खाने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे एनीमिया में यह असरदार औषधि की तरह काम करता है.
  • गर्मवती महिलाएँ आम के जूस का सेवन कर सकती हैं, यह जूस आपके आयरन की जरूरत को पूरा करेगा.
  • आम हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है.
  • आम किडनी की बीमारियों को दूर रखने में सहायक होता है.
  • यह गैस की समस्या भी कम करता है.
  • यह हड्डीयों को मजबूत बनाता है और गठिया को दूर रखता है.
  • आम मुहांसों को खत्म करने में भी काफी असरदार है. आम के गूदे को चेहरे पर लगाएँ और 10 मिनट चेहरे को बाद धो लें. इससे आपके चेहरे पर के मुहांसों के बंद पड़े छिद्र खुल जायेंगे. एक बार जब ये छिद्र खुल जायेंगे तो मुंहासों का निर्माण खुद बंद हो जायेगा.
  • आम में विटामिन A और विटामिन C पाए जाते हैं, जो कि शरीर के अंदर कोलाजेन प्रोटीन के निर्माण में सहायता करते हैं. कोलाजेन ब्लड वेसल और शरीर के कनेक्टिव टिशू को सुरक्षित रखता है, जिससे त्वचा की उम्र ढलने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है.
  • आम विटामिन E का बेहत स्रोत है. संतुलित मात्रा में आम का सेवन सेक्स क्षमता को बढ़ाता है.
  • कच्चे आम को पकाकर पीने से यह लू लगने से बचाता है. और लू लगने पर भी कच्चे आम को पकाकर पीना फायदेमंद होता है.
  • आम में लेप्टिन नाम का रसायन पाया जाता है जिससे भूख कम लगती है. इससे एक्स्ट्रा कैलोरी भी बर्न हो जाती है.
SHARE
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply