सावधान! ये सात चीज़ें आपको डायबिटीज़ का शिकार बना सकती हैं

0

मधुमेह या डायबिटीज हाल के सालों में होने वाला सबसे खतरनाक जीवनशैली रोग माना जाता है। यह ना केवल परिवार में पहले से किसी के डायबिटीज़ होने पर होती है बल्कि यह स्वास्थ्य के अनुकूल जीवनशैली नहीं रखने से होती भी है।

मीठे पेय पदार्थ

मीठे पेय पदार्थों में कैलोरी और शुगर की मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए आपको सोडा और बोतल बंद पेय पदार्थों का सेवन कम से कम करना चाहिए ताकि मोटापा और डायबिटीज़ से बचा जा सके।

देर से खाना खाना

क्या आपको देर से खाना खाने की आदत है? आपको समझना चाहिए कि देर से खाना खाना स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। देर से खाना खाने से ब्लड शुगर लेवल प्रभावित होता है जिससे डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है।

stress

फाइबर की कमी

फाइबर वाले फलों को कम खाना भी आपके पाचन के लिए सही नहीं है। इससे ना केवल पाचन क्षमता को कमजोर होती है बल्कि डायबिटीज़ का खतरा भी ज्यादा होता है।

धूम्रपान

एक शोध में यह बात सामने आई है कि धूम्रपान करने वाले लोगों में डायबिटीज होने का खतरा आम लोगों की तुलना में 44 फीसदी अधिक होता है। जापान के नेशनल कैंसर के शोधकर्ताओं ने पाया कि दिन में 20 से ज्यादा सिगरेट पीने वालों में यह खतरा 61 फीसदी तक बढ़ जाता है। जबकि कम धूम्रपान करने वालों में यह खतरा 29 प्रतिशत पाया गया।

smoking

देर रात को स्नैक्स खाना

यदि आपको रात में नींद देर आती है तो टाइम पास करने के लिए आपको ज्यादा कैलोरी वाले स्नैक्स खाने पड़ते हैं। यह अच्छी आदत नहीं है इससे डायबिटीज़ हो सकता है।

तनाव

यदि आपके परिवार में पहले से किसी को डायबिटीज़ रहा है तो आपको तनाव पर ध्यान देना होगा। ऐसा कोर्टिसोल नामक स्ट्रैस हार्मोन के कारण होता है, जिससे कि आपका ब्लड शुगर लेवल प्रभावित हो सकता है।

कम या ज्यादा सोना

एक अध्ययन से यह पता चला है कि बहुत कम या बहुत ज्यादा सोने से डायबिटीज हो सकता है।

इन आदतों से आप हो सकते हैं डायबिटीज़ के शिकार

ये कुछ आदतें हैं जिनसे डायबिटीज़ हो सकता है। इसलिए रात को ज्यादा शुगर वाले खाद्य पदार्थ और और स्नैक्स ना लें। अपने अपने स्वास्थ्य से ऐसे प्यार करो जैसे आप परिवार से करते हो।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।

Leave a Reply