सरसों के तेल के फायदे, sarso ke tel ke fayde

1

हम सभी के घरों में सब्जी बनाने या फिर नॉन-वेज बनाने में सरसों के तेल का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता है. कुछ जगहों पर इसे कड़वा तेल के नाम से भी जाना जाता है.

सरसों का तेल सेहत और सुंदरता दोनों के ही लिए बहुत फायदेमंद है. सरसों के तेल में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो दर्दनाशक का काम करते हैं. जोड़ों का दर्द हो या फिर कान का दर्द, सरसों का तेल एक औषधि की तरह काम करता है.

आमतौर पर लोग इसे सिर्फ तेल समझकर ही इस्तेमाल करते हैं पर आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आयुर्वेद में इसे औषधि की श्रेणी में रखा गया है. सरसों के तेल के ये फायदे आपको हैरान कर देंगे.

1. दर्दनाशक के रूप में

जोड़ों के दर्द में सरसों के तेल की मालिश करना बहुत फायदेमंद होता है. इसके अलावा सरसों के तेल के सेवन से अंदरुनी दर्द में भी आराम मिलता है.

2. रुखी त्वचा के लिए फायदेमंद

सरसों का तेल का सेवन सेहत के लिए तो फायदेमंद रहता ही है. साथ ही यह त्वचा के लिए बहुत गुणकारी है. इसमें विटामिन ई पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. सर्दियों में अक्सर रुखी त्वचा की परेशानी हो जाती है. ऐसे में आप सरसों के तेल की मालिश करें और सेवन करें. इसका सेवन और मालिश करने से त्वचा को अंदरुनी पोषण मिलता है. साथ ही आप इसे चेहरे पर लगाएंगे तो त्वचा की नमी भी बनी रहती है.

3. सर्दी-जुकाम से दिलाए राहत

यदि आपको दिसंबर-जनवरी के मौसम में सर्दी-जुकाम की समस्या है तो सरसों का तेल इसमें आपको आराम दिलाएगा. आप रात को सोते समय सरसों का तेल हल्का गुनगुना कर नाक में दो-दो बूंद डाल लें. अगली सुबह जब आप उठेंगे तो आपको सर्दी-जुकाम की समस्या राहत मिलेगी. ऐसा लगातार दो से तीन दिन करने पर पुराने से पुराना जुकाम दूर हो जाएगा.

4. भूख बढ़ाने में मददगार

अगर आपको भूख नहीं लगती है और इसके चलते आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है तो सरसों का तेल आपके लिए खासतौर पर फायदेमंद रहेगा. ये तेल हमारे पेट में ऐपिटाइजर के रूप में काम करता है जिससे भूख बढ़ती है.

5. वजन घटाने में मददगार

सरसों के तेल में मौजूद विटामिन जैसे थियामाइन, फोलेट व नियासिन शरीर के मेटाबाल्जिम को बढ़ाते हैं जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है.

6. अस्थमा का उपचार

सर्दियों में अक्सर अस्थमा रोगियों की समस्या बढ़ जाती है. ऐसे रोगियों के लिए सरसों का तेल अच्छा रहता है. सरसों के तेल में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है. इसका सेवन करने से अस्थमा के मरीजों को आराम मिलता है. सर्दी हो जाने पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.

7. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए

सरसों का तेल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है. शरीर की अंदरुनी कमजोरी को दूर करने के लिए सरसों के तेल का नियमित सेवन करें. इससे मालिश करना भी फायदेमंद रहेगा.

8. दांत दर्द में फायदेमंद

अगर आपके दांतों में दर्द है तो सरसों के तेल में नमक मिलाकर मसूड़ों पर हल्की मालिश करें. ऐसा करने से दांतों का दर्द दूर हो जाएगा और दांत भी मजबूत बनेंगे.

सोने से पहले सरसों का तेल शरीरमें लगाने के फायदे

सरसों के तेल  में कई विटामिन, मिनरल्स और अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो शरीर को फायदा पहुंचाते हैं। अगर सोने से इसे शरीर के कुछ हिस्सों पर लगाया जाए तो गजब के फायदे मिलते हैं। आज हम आपको उन्हीं हिस्सों के बारे में बताएंगे, जहां सरसों का तेल लगाने से कई प्रॉब्लम दूर होती हैं।

1. सिर की मालिश

अगर आप दिनभर काम से लौटकर थक जाते है, जिससे आपको तनाव भी रहता है तो रात को सोने से पहले सिर पर सरसों का तेल लगाकर अच्छे से बालों और सिर का मसाज करें। इससे रिलैक्स मिलेगा और तनाव दूर रहेगा।

2. पैर के तलवे

रोज रात में सोने से पहले अगर पैरों के तलवों पर सरसों का तेल लगाकर मालिश की जाए तो आंखों की रोशनी तेज होती हैं। अगर आपको नींद अच्छी नहीं आती तो यह नुस्खा आपके लिए बैस्ट है। साथ ही इससे शरीर स्वस्थ और मजबूत बना रहता है।

3. नाभि

सोने से पहले सरसों का तेल नाभि पर लगाए, इससे होंठ फटने की समस्या तो दूर रहती ही है साथ ही होंठ खूबसूरत भी दिखने लगते है। इसके अलावा नाभि पर सरसों का तेल लगाने से पेट दर्दज और पाचन संबंधी प्रॉबल्म भी दूर रहती है। इसके अलावा इससे आंखों की जलन, खुजली और सूखापन भी ठीक हो जाता है।

4. चोट

अगर लंबे समय से लगी चोट ठीक होने का नाम नहीं ले रही तो वहां सरसों का तेल लगाए। अपनी चोट पर सरसों का तेल तब तक लगाते रहे, जब तक चोट सूख कर ठीक न हो जाए।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

1 COMMENT

Leave a Reply