विटामिन बी12 की कमी के लक्षण और उपाय

0

इन दिनों काफी लोग विटामिन B12 की कमी से पीडित हो रहे हैं। नियमित विटामिन B12 को अपनी डाइट में शामिल करने से हृदय स्‍वस्‍थ रहता है, त्‍वचा फ्रेश दिखती है, शरीर में खून की कमी नहीं हो पाती और बाल मजबूत बनते हैं।

विटामिन B12 की कमी के कुछ लक्षण 

  • अक्सर थकन और कमजोरी का रहना
  • खून की कमी होना
  • हार्टबीट तेज़ रहना
  • साँस फूलने की प्रॉब्लम रहना
  • लगातार कब्ज़ की प्रॉब्लम रहना
  • वजन का तेजी से घटना
  • मेमोरी कमजोर होना
  • सिरदर्द की प्रॉब्लम रहना
  • लूज़ मोशन की शिकायत रहना
  • जोड़ो में दर्द की प्रॉब्लम रहना

अगर आपको इनमें से एक से अधिक परेशानी है तो इसका अर्थ है कि आपके शरीर में विटामिन बी 12 की कमी हो रही है। चिकित्सकों का मानना है कि विटामिन बी 12 शरीर में रेड सेल्स के निर्माण के साथ-साथ डीएनए-आरएनए और नर्वस सिस्टम को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

इसलिए अगर आपको अपने शरीर में विटामिन बी 12 की कमी के बारे में पता लगता है तो सबसे पहले आप अपने खान-पान के तरीके में बदलाव ला सकते हैं।

विटामिन बी 12 के लिए शाकाहारी वस्तुएँ:

भारत में सबसे बड़ा मिथक यह है कि विटामिन बी 12 के लिए अधिकतम मांसाहारी भोजन करना चाहिए। इसके लिए शाकाहारी भोजन में भी पर्याप्त विकल्प और किस्म उपलब्ध हैं। आइये आपको बताते हैं कि विटामिन 12 की कमी को शाकाहारी भोजन से कैसे दूर किया जा सकता है:

1. डेयरी प्रोडक्ट :

हर व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में लगभग हर प्रकार के डेयरी प्रोडक्ट जैसे दूध, पनीर, चीज़, दही, छाछ इत्यादि लेता ही है। यह सभी प्रोडक्ट विटामिन बी 12 के सबसे अच्छे सोर्स माने जाते हैं। इन सभी चीजों को अपनी सुविधानुसार कभी भी और किसी भी रूप में लिया जा सकता है।

2. साबुत अनाज:

वर्तमान जीवन शैली में भारतीय भोजन में साबुत और मोटा अनाज जैसे ब्राउन राइस, ओटमील जिसे जै भी कहा जाता है, विटामिन बी 12 की कमी को पूरा करने के लिए लिया जा सकता है। ओटमील सामान्य रूप से कम चिकनाई वाला भोजन माना जाता है और इसमें बी 12 के साथ बी 6 की मात्रा भी बहुत अधिक होती है।

3. सिट्रिस फ्रूट:

मौसम में मिलने वाले हर प्रकार के सिट्रिस फ्रूट जैसे संतरा, मौसमी, नींबू, अंगूर आदि को आप अपने नाश्ते में शामिल कर सकते हैं। इससे कभी भी आपको शरीर में विटामिन बी 12 की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

4. हरी सब्जी:

पालक, हरी फलियाँ , ब्रोकली और पत्ता गोभी ऐसी सब्जियाँ मानी जाती हैं जिनके नियमित सेवन से शरीर में विताम्न बी 12 की कमी नहीं होने पाती है। बीन्स और ब्रोकली पूरी तरह से विटामिन बी से युक्त आहार माना जाता है।

5. सूखे मेवे:

वैसे तो सभी सूखे मेवे और सूखे बीज बहुत पौष्टिक और हेल्थी स्नेक माने जाते हैं। लेकिन फिर भी यदि आप बादाम और सूरजमुखी के बीज और मूँगफली लेते हैं तो यह कभी भी विटामिन बी 12 की कमी नहीं होने देंगे।

6 केला:

अगर आप सप्ताह में 3-4 केले अपने मेन्यू में शामिल कर लेते हैं तो अगर आप विटामिन बी 12 की कमी से परेशान हैं तो वो हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

7. दालें:

दाल भारतीय भोजन का अभिन्न हिस्सा होता है। दालें प्रोटीन के साथ ही विटामिन बी 12 से भी भरपूर होती हैं।

8. मशरूम:

शाकाहारी भोजन में मशरूम सबसे अधिक पौष्टिक भोजन माना जाता है। अगर आप शाकाहारी भोजन से विटामिन बी 12 की कमी को पूरा करना चाहते हैं तो मशरूम को अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं।

9. सोया प्रोडक्ट:

सोया प्रोडकट में सोया दूध, सोया पनीर और टोफू शामिल होते हैं। आप इनके सेवन से अपने शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही विटामिन बी 12 की कमी को भी रोक सकते हैं ।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply