नींबू के फायदे, nimbu ke fayde in hindi

0

नींबू के फायदे, nimbu ke fayde in hindi- नींबू और नींबू का रस स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत फायदेमंद होता है। त्‍वचा को निखारने के लिए नींबू एक प्राकृतिक ब्‍लीच की तरह है। इसके छिलके का प्रयोग मृत त्‍वचा को हटाने, ब्‍लैकहेड को साफ करने के लिये प्रयोग कर सकते हैं। यह बालों से डैंड्रफ भी हटाता है। नींबू का रस विटमिन सी, विटमिन बी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से समृद्ध होता है। ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं, जो इसके नियमित सेवन से दूर रहती हैं। आज हम जानेंगे नींबू के फायदे के बारे में, nimbu ke fayde in hindi.

एंटी ऑक्सीडेंट का है सीधा स्त्रोत

नींबू में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मज़बूत बनाते हैं। बैक्टीरिया और वायरस की वजह से फैलने वाली बीमारियों से बचाव के लिए नींबू के रस का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा नींबू सिट्रस परिवार के अंतर्गत आता है। पीले रंग के इस फल में मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्‍सीडेंट का शक्तिशाली स्रोत है। नींबू एंटीऑक्‍सीडेंट का एक समृद्ध स्रोत है। नींबू में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट आपके स्‍वास्‍थ्‍य, बालों और त्‍वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

नींबू के फायदे - lemon water ke fayde - नींबू के फायदे, nimbu ke fayde in hindi

नींबू के फायदे

nimbu ke fayde in hindi

इन बीमारियों से बचाता है नींबू

  • नींबू में पोटेशियम और फॉस्फोरस जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो ब्रेन सेल्स और नर्वस सिस्टम को मज़बूती देते हैं।
  • इसमें मौज़ूद विटमिन सी एंटी ऑक्सीडेंट तत्वों के साथ मिलकर कैंसर जैसी ख़्ातरनाक बीमारी से लडऩे में मदद करता है।
  • यह आयरन का अच्छा स्त्रोत होने से शरीर में आयरन अब्ज़ॉप्र्शन भी बढ़ाता है। इसलिए यह रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने में भी मददगार साबित होता है।
  • नींबू का रस पानी में मिलाकर गरारा करने से गला खुल जाता है। खांसी-ज़ुकाम जैसी संक्रामक बीमारियों से बचाव के लिए नींबू का सेवन करना चाहिए।
  • एक गिलास गर्म पानी में नींबू डाल कर पीने से पाचन क्रिया ठीक रहती है।
  • यदि मसूढ़ों से खून रिसता हो तो प्रभावित जगह पर नींबू का रस लगाने से मसूढ़े स्वस्थ हो जाते हैं।
  • पेट खराब, कब्ज, दस्त होने पर नींबू का रस पीने से राहत मिलती है। नींबू का रस रक्तचाप को भी संतुलित रखता है।
  • अत्यधिक थकान महसूस होने पर एक गिलास पानी में नींबू निचोड़कर पिएं। इससे एनर्जी मिलेगी और बॉडी की फिटनेस भी बनी रहेगी।
  • नींबू पानी पीने से इम्यूनिटी बढ़ती है, जिससे घाव जल्दी ठीक होते हैं।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

नींबू के फायदे - lemon for skin - नींबू के फायदे, nimbu ke fayde in hindi

  • नींबू को अपनी डाइट में शामिल करने से त्वचा की रंगत में निखार आता है। नींबू का छिलका कोहनी पर रगडऩे से कोहनी का कालापन दूर होता है।
  • नींबू का सेवन करने से आंखें स्वस्थ रहती हैं। आंखों की अच्छी रोशनी के लिए नींबू के रस का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।
  • नींबू को अपनी रोज़ाना डाइट मेें शामिल करने से आप रख सकते हैं अपनी और अपने परिवार की सेहत का खास ख्याल। रोजाना एक से दो गिलास नींबू पानी का सेवन करना चाहिए। खाने के समय सलाद में नींबू डाल कर भी उसका सेवन किया जा सकता है।

ये हैं नींबू के अन्य चमत्कारिक गुण

  • न्यूट्रिशनल वैल्यू प्रति 100 ग्राम
  • विटमिन सी : 39 मिग्रा
  • एनर्जी : 57 किलोकैल
  • कार्बोहाइड्रेट : 11.1 ग्राम
  • आयरन : 0.3 ग्राम
  • पोटैशियम: 0.26 मिग्रा
  • प्रोटीन :1.1 ग्राम
  • फॉस्फोरस : 10 मिग्रा

नींबू के अन्य फायदे | nimbu ke fayde

भूरा होने से बचाता है

आपने देखा होगा कि कुछ सब्जियां या फल ऐसे होते हैं जो कटाने के तुरंत बाद ही भूरे होने लगते है। ऐसे फल या सब्जियों को नींबू का रस लगाकर भूरा होने से बचाया जा सकता हैं। एवोकैडो, सेब, केले, छिला हुआ कच्‍चा आलू और कटहल आदि फलों और सब्जियों की देखभाल आप नींबू के रस के साथ कर सकते हैं।

चावल की चिपचिपाहट को दूर करें

नींबू के रस का एक और आश्चर्यजनक लाभ यह है कि इससे चावल में चिपचिपाहट की समस्‍या का निवारण होता हैं। चावल बनाते समय नींबू के रस की कुछ बूंदे डाल देने से चावल एक दूसरे से जुड़ते नहीं हैं और खिले-खिले तैयार होते हैं। ऐसा करने से चावल प्‍लेट में सुंदर लगते हैं।

भोजन के स्वाद को बढ़ाता है

अंत में जानें कि नींबू का रस वास्तव में किसी भी भोजन के स्‍वाद को बदल सकता हैं। इसमें क्रीमी डिश में अधिक स्‍वाद को जोड़ने और समुद्री खाद्य पदार्थों के स्वाद में संतुलन बनाये रखने की क्षमता होती हैं। इसके अलावा, नींबू नमक के लिए एक सोडियम मुक्त विकल्प है। अपने भोजन में नींबू को निचोड़कर आप उसे स्वादिष्‍ट बना सकते हैं।

शीशे के दरवाजे और खिडकियां की सफाई

अपने घर की खिडकियों पर लगे सफेद पानी के दाग, शीशों के दरवाजों यहां तक की अपनी कार के शीशे को भी आप केवल नींबू की मदद से साफ कर सकती हैं। नींबू में पाया जाने वाले सिट्रिक एसिड की मदद से यह काम करना आसान होता है।

फ्रिज की सफाई

फ्रिज को भी समय-समय पर साफ करने की बहुत जरूरत होती है। इसे साफ करने के लिये कॉटन बॉल्स को नींबू के रस में डुबोएं और उन्हें फ्रिज में कुछ घंटों के लिए रखा छोड़ दें। फ्रिज में लगे दाग-धब्बों को साफ करने के लिए नींबू को आधा-आधा काट लें और फिर उस पर थोड़ा नमक लगाकर दाग वाली जगह पर रगड़ें। इस तरह दाग-धब्बे तो दूर होंगे ही नींबू के रस की वजह से फ्रिज से आने वाली दुर्गध भी दूर हो जाएगी।

पीतल की सफाई

आप पीतल के बर्तन, मूर्तियां या सजाने के किसी भी सामान को नींबू से आसानी से साफ कर सकते हैं। पीतल के बर्तनों की सफाई के लिए आपको नींबू को आधा काट कर और इस पर नमक छिड़ककर बर्तनों पर रगड़ना होगा। ऐसा करने से पीतल चमकने लगता हैं।

किचन सिंक की सफाई

सिंक से चिपचिपे ग्रीस को हटाने के लिए आपको कई बार गर्म पानी से धोना पड़ता हैं। लेकिन अगर आप सिंक को आसानी से साफ करना चाहती हैं तो नींबू को नमक में निचोड़कर गाढ़ा पेस्ट बना लें और उसको साबुन के घोल के साथ मिला कर सिंक की स्‍क्रबर के साथ सफाई करें। इस उपाय को अपनाने से सिंक चमकने लगता है।

इन बीमारियों में ना करें नींबू पानी का सेवन हो सकता है नुकसान, जानें वजह | nimbu ke nuksan in hindi

क्या आप जानते हैं कि कुछ बीमारियां ऐसी भी है जिसमें नींबू पानी का सेवन करना काफी हानिकारक हो जाता है।

कई बीमारियों में नींबू के कई साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। इसलिए आज हम जानेंगे कि किन लोगों को नींबू का सेवन नहीं करना चाहिए।

  • पेट में गैस, सीने में जलन या जिन को हार्ट की समस्या है, उन्हें नींबू पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए। क्योंकि इससे गैस की समस्या और बढ़ जाती है और नींबू में विटामिन सी होता है जो कि हार्ट पेशेंट को नुकसान पहुंचा सकता है। जिन लोगों को पेट में अल्सर की समस्या है, उन्हें भी नींबू पानी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • जो लोग आयरन की दवा ले रहे हैं, उन्हें नींबू पानी का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि अगर आप एक ही दिन में आयरन की टेबलेट भी लेते हैं और नींबू पानी का भी सेवन करते हैं तो आयरन की दवा का कोई असर नहीं होगा.
  • किडनी और लीवर की समस्या में नींबू पानी नहीं लेना चाहिए, क्योंकि यह शरीर के किसी भाग में यूरिक एसिड की गाउट यानी गांठ बना सकती है। इसलिए जिन लोगों को लीवर और किडनी की समस्या है वह नींबू पानी ना पिएं।
  • नींबू पानी में सिट्रिक एसिड होता है जो दांतों के इनेमल को कमजोर कर सकता है। जिससे आपके दांतो में ठंडा-गर्म लगने लगेगा. इसलिए नींबू पानी के तुरंत बाद ब्रश नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे नींबू पानी आपके दांतों के इनेमल तक पहुंच जाएगी।
  • जिन लोगों को डीहाइड्रेशन हुई हो उन्हें भी नींबू पानी नहीं पीना है, क्योंकि नींबू पानी के सेवन से पेशाब ज्यादा होता है। जिससे शरीर में पानी की और ज्यादा कमी हो जाएगी।
  • जिन लोगों का डाइजेस्ट सिस्टम खराब है, उन्हें तो नींबू पानी बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि इससे उनका डाइजेस्ट सिस्टम और भी ज्यादा खराब हो जाएगा।
  • अगर आपके के दांतो में ठंडा-गर्म लगने की समस्या पहले से ही है तो आपको नींबू पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए और अगर पीते भी हैं, तो तुरंत बाद सादे पानी से कुल्ला जरूर कर लें।

हमारी आयुर्वेद हीलिंग एप्प को अपने फ़ोन में डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए नीले रंग के लिंक में क्लिक करे

Download AyurvedhealingApp

दोस्तों नींबू के फायदे, nimbu ke fayde in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और आपके पास अगर नींबू के बारे में और नींबू के फायदे के बारे में कोई और जानकारी हो तो हमारे साथ साँझा करे।

Soure: www.onlymyhealth.com

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

Leave a Reply