खजूर खाने के ये 10 बड़े फायदे, Khajur khane ke fayde in hindi

1

खजूर खाने के फायदे, Khajur khane ke fayde in hindi – खजूर के पेड़ों की खेती सदियों से की जा रही है। खासतौर से मध्‍य पूर्व के देशों में तो खजूर हमेशा से भोजन का अहम हिस्‍सा रहा है। खजूर की खासियत यह है कि इसे आप फ्रेश भी खा सकते हैं और सुखाकर भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। एक खजूर की लंबाई तीन से सात सेंटीमीटर तक हो सकती है। जहां पके हुए खजूर का रंग गहरे पीले और लाल रंग का होता है वही सूखा खजूर ज्‍यादातर भूरे रंग का होता है।

मिठास के आधार पर खजूर को तीन हिस्‍सों में बांटा जाता है- नरम खजूर, हल्‍का सूखा खजूर और पूरी तरह से सूखा हुआ खजूर। हालांकि खजूर के ये तीनों प्रकार लगभग एक जैसे ही होते हैं लेकिन स्‍वाद और आकार में थोड़ा बहुत फर्क हो सकता है।

खजूर एक ऐसा फल है जो आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्‍छा है। इसमें ढेरों पोषक तत्‍व पाए जाते हैं और माना जाता है कि ये कई बीमार‍ियों को दूर कर सकता है। यहां पर हम आपको खजूर के ऐसे ही कुछ चमत्‍कारी फायदों के बारे में बता रहे हैं :-

डाइजेशन सुधारे, भगाए कब्‍ज

खजूर में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो आपके पाचन तंत्र की सफाई करने के काम आता है। अगर पाचन ठीक रहेगा तो कब्‍ज की शिकायत भी नहीं होगी।

ब्लड प्रेशर करे कंट्रोल

मैग्नीरशीयम ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने का भी काम करता है। खजूर में मौजूद पोटैशियम अधिक ब्लआड प्रेशर को कम करने का काम करता है।

नहीं आएगा हार्ट अटैक

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनीकल न्यू‍ट्रिश‍न की एक रिसर्च के मुताबिक अगर कोई व्येक्ति एक दिन में 100 मिलीग्राम मैग्नीश‍यम ले तो हार्ट अटैक का खतरा 9 फीसदी तक कम हो सकता है।

दिल बनाए सेहतमंद

खजूर में मौजूद फाइबर आपके दिल को भी मजबूत और सेहतमंद बनाने का काम करते हैं। खजूर में पोटैश‍यम भी होता है जो हार्ट अटैक के खतरे को काफी हद तक टाल सकता है।

नहीं लगेंगे दांतों में कीड़े

खजूर में Fluorine पाया जाता है। यह ऐसा केमिकल है जो दांतों से प्लाकक हटाकर कैविटी नहीं होने देता। यही नहीं यह टूथ इनेमल यानी कि दंतवल्क  को भी मजबूती देता है।

स्किून और बालों के लिए गुणकारी

विटामिन C से भरपूर खजूर त्वरचा के लचीलेपन को बरकरार रखकर उसे कोमल बनाता है। खजूर में मौजूद विटामिन B5 स्ट्रे च मार्क्सर हटाने में भी कारगर है। यही नहीं यह बालों को भी स्वकस्थू बनाए रखता है। विटामिन B5 की कमी से बाल कमजोर होकर झड़ने लगते हैं और दोमुंहे भी हो जाते हैं।

ज्‍वलनरोधी गुणों से भरपूर

खजूर में भरपूर मात्रा में मैग्‍नीशीयम पाया जाता है। मैग्‍नीश‍यम में ज्‍वलनरोधी गुण होता है, जो हार्ट की बीमारी (खून का जमना आदि), गठीया और अल्‍जाइमर जैसे रोगों को आपसे दूर रखता है।

एनीमिया में भी कारगर

रेड ब्‍लड सेल्‍स और आयरन की कमी के चलते कई लोगों को एनीमिया की श‍िकायत हो जाती है। एनीमिया यानी कि शरीर में खून की कमी। खजूर में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। ऐसे में यह एनिम‍िया के उपचार का रामबाण इलाज है। लगातार खजूर का सेवन करने से शरीर में आयरन की कमी पूरी हो जाती है।

आयुर्वेद हीलिंग एप्प के माध्यम से पाइए आयुर्वेद से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी, विभिन्न आयुर्वेदिक व घरेलू नुस्ख़े, योगासनों की जानकारी। आज ही एप्प इंस्टॉल करें और पाएं स्वस्थ और सुखी जीवन। सबसे अच्छी बात ये है कि ऑफलाइन मोड का भी फीचर है मतलब एक बार अपने ये एप्प इनस्टॉल कर ली तो अगर आपका नेट पैक खत्म 🤣 भी हो जाता है तो भी आप हमारे घरेलू नुस्खे देख सकते है तो फिर देर किस बात की आज ही इनस्टॉल करे । नीचे दिए गए लाल रंग के लिंक में क्लिक करे और हमारी एप्प डाउनलोड करे
http://bit.ly/ayurvedhealing

नर्वस सिस्‍टम की देखभाल

खजूर में वो सभी विटामिन होते हैं जो नर्वस सिस्‍टम के लिए जरूरी हैं। ये विटामिन नर्वस सिस्‍टम की कार्य प्रणाली को दुरुस्‍त रखते हैं। यही नहीं इसमें मौजूद पोटैश‍यम दिमाग को अलर्ट और हेल्‍दी रखते हैं।

रतौंधी का इलाज

रोजाना खजूर खाने से न सिर्फ आंखें स्‍वस्‍थ रहती हैं, बल्‍कि यह रतौंधी के इलाज में भी कारगर है। रतौंधी से छुटकारा पाने के लिए खजूर का पेस्‍ट बनाकर उसे आंखों के चारों ओर लगाने से फायदा म‍िलेगा। आप चाहें तो खजूर खाकर भी रतौंधी से मुक्ति पा सकते हैं।

Source: www.suchkhu.com

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेल नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Loading...

1 COMMENT

Leave a Reply